पाकिस्तान में हिन्दुओं के लिए श्मशान भी नसीब नहीं, अदालत पहुंचा मामला

Webdunia
बुधवार, 12 सितम्बर 2018 (14:51 IST)
लाहौर। लाहौर उच्च न्यायालय ने यहां हिन्दुओं के अंतिम संस्कार के लिए श्मशान भूमि नहीं होने से संबंधित एक याचिका को विचारार्थ स्वीकार किया है।
 
यह याचिका अधिवक्ता इश्तियाक चौधरी ने दायर की है। न्यायाधीश अली अकबर कुरैशी ने मंगलवार को याचिका स्वीकार करते हुए लाहौर विकास प्राधिकरण के महानिदशेक, स्थानीय सरकार के सचिव और लाहौर के उपायुक्त को इस मामले में गुरुवार तक जवाब दाखिल करने का आदेश दिया।
 
डान न्यूज के अनुसार याचिकाकर्ता ने याचिका में कहा है कि 1973 का संविधान सभी नागरिकों के अधिकारों को सुरक्षा प्रदान करता है। याचिका में कहा गया है कि लाहौर में हिन्दुओं के अंतिम संस्कार के लिए कोई श्मशान भूमि नहीं है। इसकी वजह से इस समुदाय को बहुत कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।
 
याचिकाकर्ता ने न्यायालय से अनुरोध किया है कि वह लाहौर में हिन्दुओं के अंतिम संस्कार के लिए श्मशान भूमि मुहैया कराने का आदेश दे। (वार्ता)
 

प्रधानमंत्री मोदी की सबसे बड़ी योजना को छत्तीसगढ़ में बड़ा झटका!

क्या ऑटो चलाकर परिवार का पेट पालते हैं ‘PM मोदी के भाई’.. जानिए सच..

मध्यप्रदेश : कांग्रेस के 10 वर्तमान विधायकों के टिकट खतरे में

किस वार को जन्मे हैं आप? जानिए वार अनुसार अपना स्वभाव...

बार-बार पेशाब आने के 5 कारण और उपाय

सम्बंधित जानकारी

चौंकाने वाली रिपोर्ट, शराब पीने से हर साल होती है 30 लाख लोगों की मौत

अब जियो टीवी पर देख सकेंगे क्रिकेट मैच

खुशखबर, नौकरी जाने पर मिलेगा पैसा, मोदी सरकार की नई योजना

जेट एयरवेज में नहीं मिलेगा मुफ्त भोजन

जान लीजिए वह 16 कारण जिनसे लगता है पितृ दोष...

पाकिस्तान पर बड़ी जीत के बाद रोहित शर्मा ने इसका श्रेय पूरी टीम को दिया

'गब्बर' और 'हिटमैन' ने पाकिस्तान को 9 विकेट से धो डाला

भोपाल में 'कार्यकर्ता महाकुंभ' को मेगा-शो बनाने में जुटी भाजपा

प्रधानमंत्री मोदी की सबसे बड़ी योजना को छत्तीसगढ़ में बड़ा झटका!

टीम इंडिया ने देश को दिया गणेश विसर्जन का तोहफा, पाकिस्तान को 9 विकेट से रौंदा

अगला लेख