महाराष्ट्र के मराठवाड़ा में इस वर्ष 618 किसानों ने की आत्महत्या

Webdunia
बुधवार, 12 सितम्बर 2018 (16:49 IST)
औरंगाबाद (महाराष्ट्र)। महाराष्ट्र के मराठवाड़ा क्षेत्र में इस वर्ष एक जनवरी से नौ सितंबर तक फसल की बर्बादी और कर्ज से परेशान 618 किसानों ने आत्महत्या कर ली।


मंडलायुक्त के कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार, सूखा प्रभावित बीड जिले में सबसे अधिक 125 किसानों ने आत्महत्या की। सबसे कम हिंगोली जिले में 42 किसानों ने खुदकुशी की है। उस्मानाबाद जिले में 100, औरंगाबाद में 87, परभणी में 85 तथा नांदेड और जालना जिले में 62-62 किसानों ने आत्महत्या की।

आत्महत्या के पीछे कर्ज, बारिश की कमी और फसल के खराब होने के साथ ही अन्य कारण बताए गए हैं। कुल 618 आत्महत्या के मामलों में 368 को सरकारी सहायता के योग्य पाया गया है, जबकि 166 मामलों को जांच के बाद खारिज कर दिया गया। 84 मामले अभी जांच के लिए लंबित हैं।

मराठवाड़ा में बारिश की कमी के कारण सूखे जैसी स्थिति है। इस महीने के अंत तक मानसून लगभग समाप्त हो जाएगा और वहां अब तक 39 प्रतिशत बारिश कम हुई है। क्षेत्र की कई सिंचाई परियोजनाओं में औसतन 34 प्रतिशत जल बचा है। (वार्ता)

गुजरात में 500 करोड़ का फर्जी जीएसटी बिल घोटाला

छब्बीस जनवरी पर कविता : गणतंत्र दिवस फिर आया है

सेंधवा में भाजपा नेता की हत्या, हथियार की तलाश खाली कराया कुआं, नहीं खुला राज

अगर आपके घर भी हैं ये 5 चीजें तो तुरंत बदल डालें, आपको कंगाल बना सकती हैं ये गलतियां

सूर्य को इस तरह जल चढ़ाने से बनते हैं धनवान, जानें 14 खास बातें...

सम्बंधित जानकारी

अब आसानी से बनेगा पासपोर्ट, शुरू होगी इलेक्ट्रॉनिक चिप आधारित ई-पासपोर्ट सेवा

#10YearsChallenge : खेल नहीं सबसे 'बड़ा धोखा', क्या आपने भी सोशल मीडिया कर किया था कुछ पोस्ट?

अमेरिकी एक्सपर्ट के दावों से आया भूचाल, गोपीनाथ मुंडे की मौत को जोड़ा हैकिंग से...

राफेल से जुड़े महत्वपूर्ण कागज अन्ना हजारे के पास, कहा- प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में करेंगे बड़ा ऐलान...

हाई रिटर्न के लिए सोने में कब और कैसे निवेश करें

रूसी जलसीमा में दो पोतों में आग लगी, 14 की मौत

सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, हिंदू महिला की मुस्लिम पुरुष से शादी वैध नहीं, लेकिन उनकी संतान जायज

राष्ट्रपति कोविंद ने 26 बच्चों को राष्ट्रीय पुरस्कारों से नवाजा

अब अमूल बाजार में बेचेगा ऊंटनी का दूध, जानिए क्या है इसके फायदे...

ईवीएम हैकिंग पर नहीं थमा बवाल, भाजपा के निशाने पर सिब्बल, कांग्रेस नेता ने इस तरह किया पलटवार

अगला लेख