'शिवभक्त' राहुल गांधी ने राजघाट पर बापू को चढ़ाया मानसरोवर का पवित्र जल

Webdunia
सोमवार, 10 सितम्बर 2018 (13:23 IST)
नई दिल्ली। पिछले दिनों कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर गए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी रविवार देर रात दिल्ली लौट आए। सोमवार सुबह राहुल ने राजघाट पहुंचकर बापू की समाधि पर मानसरोवर झील का पवित्र जल और पत्थर चढ़ाया। यह जल राहुल अपने कुर्ते की जेब में एक शीशी में रखकर लाए थे।
 
इसके बाद राहुल ने पेट्रोलियम उत्पादों पर मूल्य मूल्य वृद्धि के खिलाफ कांग्रेस द्वारा आयोजित बंद में शामिल हुए। कांग्रेस महासचिव अशोक गहलोत ने बताया कि राजघाट से रामलीला मैदान तक पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ मार्च निकाला गया। इसमें विपक्षी दलों के नेताओं ने भी शिरकत की। देशभर में भारत बंद का व्यापक असर देखा जा रहा है।
 
उल्लेखनीय है कि राहुल 31 अगस्त को कैलाश मानसरोवर यात्रा पर रवाना हुए थे। इस दौरान उन्होंने कई खूबसूरत तस्वीर साझा की। हालांकि कई भाजपा नेताओं ने उनकी तस्वीर पर सवाल उठाए। राहुल ने यात्रा के दौरान ट्वीट कर कहा था कि शिव ही ब्रह्मांड हैं।
 
उन्होंने कहा था कि मानसरोवर झील का पानी बहुत ही निर्मल, स्थिर और शांत है। वह सब कुछ देता है और कुछ भी नहीं लेता। कोई भी उसे पी सकता है। उसमें कोई नफरत नहीं होती। इसलिए हम भारत में इस पावन जल की पूजा करते हैं।

पाक गोलाबारी में महिला की मौत, तीन जवान जख्मी

राजस्थान भाजपा की तीसरी सूची जारी, दीया कुमारी का टिकट कटा

क्यों होता है लिवर खराब, विशेषज्ञ की खास सलाह

बहुत कम हिन्दू जानते हैं महाभारत के योद्धाओं के ये 7 गुप्त रहस्य

शिक्षक दिवस पर प्रेरक कहानी : शब्दों का प्रभाव

सम्बंधित जानकारी

आपत्तिजनक कंटेंट को यूजर्स के रिपोर्ट करने से पहले ही हटाने पर काम कर रहा है फेसबुक

सावधान, उत्तर कोरिया ने किया नए हाई-टेक हथियार का परीक्षण

मुसीबत में फंस सकते हैं बल्क में साड़ी, कपड़े खरीदने और बेचने वाले

Intelligence Bureau में नौकरी करना चाहते हैं तो जल्दी करें, 1000 से ज्यादा पद

स्मार्ट फोन की बैटरी बचाती है यह तरकीब, गूगल ने बताई

सीरिया में 30 बच्चों की मौत, नहीं टला युद्ध का खतरा, संयुक्‍त राष्‍ट्र ने जताया शोक

नीमच में 23 प्रत्याशियों की किस्मत दांव पर, जावद में त्रिकोणीय संघर्ष के आसार

राजस्थान में एक भी मुस्लिम को भाजपा का टिकट नहीं, कांग्रेस ने 9 उम्‍मीदवारों पर लगाया दांव

मध्यप्रदेश में भाजपा के चुनावी घोषणा पत्र की प्रमुख बातें...

दिल्ली से खाली हाथ लौटे उपेंद्र, फिर नहीं हुई शाह से मुलाकात

अगला लेख