पर्यावरण का संदेश देती है हरतालिका तीज, 16 तरह की पत्तियां चढ़ती हैं उमा महेश्वर को

पं. सोमेश्वर जोशी
हरतालिका तीज का व्रत करने से विवाहित महिलाओं को अखंड सौभाग्य प्राप्त होता है और कुंआरी लड़कियों को मनभावन पति मिलता है। देवी पार्वती ने स्वयं इस व्रत को कर भगवान शिव को प्राप्त किया था।

ऐसी महिमा वाले इस परम पवित्र तीज को हर विवाहित तथा अविवाहित स्त्री को करना चाहिए। इस पर्व को पर्यावरण से जोड़कर भी देखा जाता है, क्योंकि इस दिन महिलाएं सावन के बाद आई नई 16 तरह की पत्तियों को शिवजी को चढ़ाकर अपने घर में हर प्रकार की वृद्धि का वर मांगती हैं। 

 
कौन सी पत्तियां चढ़ाएं 
 
बिल्वपत्र, 
तुलसी, 
जातीपत्र, 
सेवंतिका, 
बांस, 
देवदार पत्र, 
चंपा, 
कनेर, 
अगस्त्य, 
भृंगराज, 
धतूरा, 
आम के पत्ते, 
अशोक के पत्ते,
पान के पत्ते
केले के पत्ते
शमी के पत्ते
 
इस प्रकार 16 प्रकार की पत्तियां से षोडश उपचार पूजा करनी चाहिए। 
 
क्या करें 
 
निराहार रहकर व्रत करें।
रात्रि जागरण कर भजन करें।
बालू के शिवलिंग की पूजा करें।
सखियों सहित शंकर-पार्वती की पूजा रात्रि में करें।
पत्ते उलटे चढ़ाना चाहिए तथा फूल व फल सीधे चढ़ाना चाहिए।
हरतालिका तीज की कथा गाना अथवा श्रवण करें। 



ALSO READ: हरतालिका तीज 12 सितंबर को, क्या आपने एकत्र कर ली यह पूजा सामग्री, पढ़ें पूजा विधि

ALSO READ: हरतालिका तीज व्रत 12 सितंबर को, पढ़ें पौराणिक और प्रामाणिक कथा

श्रीकृष्ण ने युधिष्ठिर से कहा था जरूर रखें घर में यह 5 चीजें, जानिए क्या हैं वे वस्तुएं

सत्यवती ने पराशर ऋषि से 'सुहागरात' मनाने की रखी थीं ये शर्तें

गुरु का राशि परिवर्तन, जानिए आप पर क्या होगा असर...

किस्मत चमका देंगे, हर काम बना देंगे... बहुत आसान है यह 10 उपाय

Pulwama attack : कश्मीर में 14 सालों बाद बीएसएफ की तैनाती, कुछ बड़ा होने वाला है...

सम्बंधित जानकारी

हवन में 'स्वाहा' क्यों बोलते हैं, जानिए रहस्य...

अंक ज्योतिष भी मानता है इन तीन अंकों को बहुत बुरा, कहीं आपका मूलांक तो इसमें शामिल नहीं?

कारोबार में होगी मनचाही प्रगति, 3 उपाय बहुत काम के हैं...

मोमबत्ती बताती है आपका भविष्य, जानिए कैसे, पढ़ें रोचक जानकारी

किस्मत चमका देंगे, हर काम बना देंगे... बहुत आसान है यह 10 उपाय

इन 8 चीजों को कभी न करें अनदेखा, ये हो सकती हैं अनहोनी का संकेत

प्रभु श्रीराम ने शबरी के जूठे फल खाए, ऐसी कौन सी विशेषता थी शबरी के फलों में, पढ़ें रोचक आलेख

मंगलमयी और कल्याणकारी जीवन चाहते हैं तो ऐसे करें शिवजी का पूजन, पढ़ें मानस पूजा अर्थ सहित

एक रहस्यवादी सिद्धपुरुष अवतार थे मेहर बाबा...

सुहागिनों का प्रतीक है सिंदूर, जानिए सौभाग्यवती स्त्रियां अपनी मांग में इसे क्यों लगाती हैं?

अगला लेख