क्या रेप आरोपी बिशप ने कहा.. वह रेप नहीं ज्ञानोदय है.. जानिए सच..

गुरुवार, 20 सितम्बर 2018 (15:00 IST)
कुछ दिन पहले केरल में एक बिशप द्वारा नन से दुष्कर्म का मामला सामने आया। केरल की नन ने जालंधर के बिशप फ्रैंको मुलक्कल पर आरोप लगाया है कि उन्होंने साल 2014 से 2016 के बीच 14 बार उनका यौन उत्पीड़न किया। इस मामले में केरल पुलिस बिशप फ्रैंको से पूछताछ कर रही है। इस बीच बिशप फ्रैंको से जुड़े कुछ पोस्ट हमारे सामने आए। वायरल पोस्ट के अनुसार, रेप आरोपी बिशप फ्रैंको मुलक्कल ने कहा है कि वह तो केवल कुंवारी मरियम द्वारा यीशु मसीह को जन्म देने की अवधारणा पर नन के साथ प्रयोग कर रहे थे। उनका यह प्रयोग अपराध नहीं हो सकता।

क्या है वायरल पोस्ट..

Times How नाम के ट्विटर हैंडल ने कुछ दिन ‍पहले रेप आरोपी बिशप फ्रैंकों की तस्वीर के साथ एक ट्वीट किया था, जिसमें लिखा है- ‘मैं कुंवारी मरियम द्वारा यीशु मसीह को जन्म देने की अवधारणा पर उसके साथ प्रयोग कर रहा था। हम सिर्फ यह देखने की कोशिश कर रहे थे कि क्या वह कुंवारी होने के बाद भी एक पवित्र बच्चे को जन्म दे सकती है या नहीं, प्रयोग अपराध कैसे हो सकता है?

Just In : I was experimenting with her about the concept of Virgin Mary giving birth to Jesus Christ. We were just trying to see if she can give birth to a holy child after being Virgin or not, How is experiment a crime ?

- Jalandhar Bishop Franco Mulakkal, who is accused. pic.twitter.com/AY8vupgqpp

— TIMES HOW (@TiimesHow) September 11, 2018


बिशप फ्रैंकों के नाम पर एक और बयान सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जो सबसे पहले The UnPaid Times ने ट्वीट किया था, जिसमें वही तस्वीर लगी है और लिखा है- ‘जो भी मेरे और नन के बीच हुआ, वह बलात्कार नहीं है। यह पवित्र यीशु मसीह के अस्तित्व को महसूस करने के लिए ज्ञानोदय का पवित्र संस्कार है।’

'Whatever happened between me and nun, it is not rape. It is the Holi Ritual of enlightenment to feel the Magical Existence of Holi Jesus at the end of the act': Bishop Franco Mulakkal, accused of Rape. pic.twitter.com/F6E7hVMK3q

— The UnPaid Times (@UnPaidTimes) September 12, 2018


दोनों वायरल पोस्ट के साथ जो तस्वीर है, उसपर न्यूज एजेंसी ANI का लोगो लगा है।

क्या है सच..

हमने सबसे पहले गूगल पर इन बयानों को सर्च किया, लेकिन हमें ANI की ऐसे कोई भी खबर नहीं मिली। The UnPaid Times ने जो तस्वीर पोस्ट की है, उसपर breakyourownnews.com का वाटरमार्क भी आप देख सकते हैं। आपको बता दें कि यह ऐसी ही कहानियां बनाने वाली एक वेबसाइट है। वायरल तस्वीर इसी वेबसाइट की डिफ़ॉल्ट समाचार फॉर्मेट में ही है। इसके अलावा, ‘Holy’ की स्पेलिंग भी गलत लिखा है - ‘Holi’।

अब आपको बता दें कि जिन दो ट्विटर हैंडल ने यह वायरल पोस्ट ट्वीट किया था, वह दोनों ही पैरोडी अकाउंट हैं और व्यंग्यात्मक न्यूज पोस्ट करते रहते हैं। अब तो आप समझ गए न कि दोनों ही वायरल पोस्ट फेक हैं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING