पूजा घर में बचें इन 5 गलतियों से....

अधिकांश हिंदू घरों में पूजा का विशेष ध्यान रखा जाता है। शुभ रीति-रिवाजों से पूजा करने के लिए मंदिर को हमेशा पूर्व या उत्तर दिशा में होना चाहिए। मंदिर को वास्तु के हिसाब से रखना चाहिए। जानकारी के अभाव में कुछ गलतियां कर बैठते हैं जो अशुभ होती हैं। इसीलिए आज  हम आपको बताएंगे कि कैसे पूजा के दौरान छोटी-छोटी बातों का ध्यान रख भगवान को खुश कर सकते हैं। 
 
1-मंदिर की खंडित मूर्तियों को पूजा में शामिल न करें। बल्कि खंडित मूर्तियों को विसर्जित कर दें। खंडित मूर्ति को बहती नदी में प्रवाहित कर देना चाहिए। हिन्दू परंपरा के अनुसार खंडित मूर्ति को मंदिर में रखना अशुभ माना जाता है.
 
2. पूजा करते समय शंख को भी मंदिर में रखना चाहिए। लेकिन आपके घर में दो शंख तो नहीं है। अगर मंदिर में दो शंख है तो आप उनमें से एक शंख हटा दें। 
 
3. मंदिर में ज्यादा बड़ी मूर्तियों को नहीं रखा जाता है। घर में शिवलिंग नहीं रखना चाहिए क्योंकि शिवलिंग बहुत संवेदनशील होता है। 
 
4. मंदिर में भगवान गणेश की प्रतिमा अवश्य रखें। लेकिन ध्यान दें कि मंदिर में 3 मूर्ति किसी भी भगवान की न हो। 
 
5. भगवान की मूर्तियों को एक-दूसरे से कम से कम 1 इंच की दूरी पर रखें। एक ही घर में कई मंदिर भी न बनाएं वरना मानसिक, शारीरिक और आर्थिक समस्‍याओं का सामना करना पड़ सकता है। 
 
आचार्य राजेश कुमार

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें!
LOADING