गिरावट से उबरा शेयर बाजार

मंगलवार, 20 मार्च 2018 (17:26 IST)
मुंबई। अधिकतर विदेशी बाजारों से मिले सकारात्मक संकेतों के बीच टेक और आईटी समूह में हुई जोरदार लिवाली के दम पर बीएसई का सेंसेक्स लगातार पांच दिन की गिरावट से उबरता हुआ मंगलवार को 73.64 अंक की बढ़त लेकर 32,996.76 अंक पर बंद हुआ। एनएसई का निफ्टी भी चार दिन की गिरावट से उबरने में कामयाब रहा और यह 30.10 अंक की बढ़त लेकर 10,124.35 अंक पर बंद हुआ।


शेयर बाजार में पूरे दिन उथल-पुथल रही, लेकिन टाटा स्टील, सन फार्मा और डॉ. रेड्डीज के शेयरों की कीमत में रही तेजी के दम पर यह आखिरकार हरे निशान में बंद हो पाया। सेंसेक्स की शुरुआत गिरावट में हुई और यह 46.64 अंक की गिरावट में 32,876.48 अंक पर खुला।

कारोबार के दौरान यह 33,000 के मनोवैज्ञानिक स्तर के पार 33,102.74 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर तक गया, लेकिन एक्सिस बैंक की बैंक गारंटी के संबंध में दूरसंचार मंत्रालय की अधिसूचना की खबरों और अमेरिका के फेडरल रिजर्व की बैठक के नतीजों को लेकर निवेशकों की चिंता से यह अपरान्‍ह में लुढ़ककर 32,810.86 अंक के दिवस के निचले स्तर तक चला गया, लेकिन इसने जल्द ही वापसी की और गत दिवस की तुलना में 0.22 प्रतिशत उछलकर 32,996.76 अंक पर बंद हुआ।

सेंसेक्स की 30 में से 18 कंपनियां हरे निशान में रहीं। मीडिया में आई खबरों के मुताबिक, दूरसंचार मंत्रालय ने सभी मोबाइल ऑपरेटरों और दूरसंचार विभाग को कहा है कि वह एक्सिस बैंक द्वारा जारी कोई बैंक गारंटी स्वीकार न करे।

मंत्रालय का कहना है कि दूरसंचार कंपनी एयरसेल के लिए जारी बैंक गारंटी का एक्सिस बैंक ने भुगतान नहीं किया। निफ्टी का ग्राफ भी सेंसेक्स की तरह रहा और 42.70 अंक लुढ़ककर 10,051.55 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान 10,155.65 अंक के उच्चतम और 10,049.10 अंक के निचले स्तर से होता हुआ यह गत दिवस की तुलना में 0.30 प्रतिशत की तेजी में 10,124.35 अंक पर बंद हुआ।

निफ्टी की 33 कंपनियां हरे निशान में रहीं और 16 लाल निशान में, जबकि एक कंपनी के शेयरों के भाव में स्थिरता रही। बीएसई के 20 समूहों में 11 समूहों के सूचकांक में तेजी रहे। बैंकिंग, धातु, तेल एवं गैस क्षेत्र सबसे अधिक दबाव में रहा। बीएसई में कुल 2,855 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ, जिनमें 1,596 गिरावट में, 1,094 तेजी में और 165 कंपनियों के शेयरों के भाव अपरिवर्तित रहे।

दिग्गज कंपनियों की तरह मंझोली कंपनियों में भी लिवाली का जोर रहा, लेकिन छोटी कंपनियों पर बिकवाली हावी रही। बीएसई का मिडकैप 0.21 प्रतिशत यानी 32.83 अंक की तेजी में 15,995.82 अंक पर और स्मॉलकैप 36.41 अंक यानी 0.21 प्रतिशत की गिरावट में 17,191.97 अंक पर बंद हुआ। (वार्ता) 

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
आप को जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें-निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING