निचले स्तर पर लुढ़के शेयर बाजार

सोमवार, 19 मार्च 2018 (18:42 IST)
मुंबई। वैश्विक स्तर पर अमेरिका में ब्याज दरों में बढ़ोतरी की आशंका और घरेलू स्तर पर चालू खाता घाटे के बढ़ने तथा मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के लंबित नोटिस के कारण सोमवार को घरेलू शेयर बाजार लगातार चौथे दिन लुढ़कते हुए साढ़े तीन महीने के निचले स्तर पर आ गए।


बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 252.88 अंक की गिरावट के साथ 32,923.12 अंक पर आ गया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 100.90 अंक लुढ़ककर 10,094.25 अंक पर बंद हुआ। यह दोनों सूचकांकों का गत 6 दिसंबर के बाद का निचला स्तर है। निफ्टी लगातार चौथे दिन और सेंसेक्स पांचवें दिन टूटा है।

निवेशकों की नजर इस समय अमेरिकी फेडरल रिजर्व की दो दिवसीय बैठक पर है। बैठक के अंत में बुधवार को नीतिगत ब्याज दर पर फेड का बयान आएगा, जिसमें दरों में बढ़ोतरी की पूरी संभावना है। निवेशकों को मानना है कि फेड के नए प्रमुख जेरोम पॉवेल की अगुवाई में हो रही इस बैठक में ब्याज दरों में 25 आधार अंकों की बढ़ोतरी का फैसला लिया जा सकता है।

इसके साथ ही कच्चे तेल की कीमतों में आई गिरावट को देखते हुए निवेशक बाजार से पैसा निकालकर वहां निवेश कर रहे हैं। अमेरिका में तेल उत्पादन गतिविधियां तेज होने के कारण कच्चे तेल के भाव लुढ़के हैं। अधिकतर विदेशी बाजार भी गिरावट में रहे हैं। हालांकि चीन का शंघाई कंपोजिट और हांगकांग का हैंगशैंग तेजी में बंद हुआ।

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के करीबी और भरोसेमंद लिउ हे को उप प्रधानमंत्री बनाए जाने से बाजार में तेजी रही है। सेंसेक्स 92.07 अंक की तेजी में 33,268.97 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान 33,275.79 अंक के उच्चतम और 33,856.54 निचले स्तर से होता हुआ यह अंतत: 0.55 प्रतिशत लुढ़ककर छह दिसंबर के बाद के निचले स्तर 32,923.12 अंक पर बंद हुआ।

सेंसेक्स की 30 में से छह कंपनियां तेजी में रहीं और 24 कंपनियां गिरावट में रहीं। निफ्टी की शुरुआत भी 20.20 अंक की बढ़त के साथ 10,215.35 अंक से हुई। कारोबार के दौरान यह 10,224.55 अंक के उच्चतम और 10,075.30 अंक के निचले स्तर से होता हुआ यह गत दिवस की तुलना में 0.99 प्रतिशत लुढ़ककर 10,094.25 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी की 50 में से 41 कंपनियां गिरावट में और नौ तेजी में रहीं।

बिकवाली के दबाव में बीएसई के सभी 20 समूहों में गिरावट रही। सबसे अधिक गिरावट दूरसंचार क्षेत्र में 3.40 प्रतिशत की रही। इसके अलावा रिएल्टी में 3.01,धातु में 2.65, टेक में 2.08 और बेसिक मटेरियल्स में 2.00 प्रतिशत की गिरावट रही।

छोटी और मंझोली कंपनियों में अधिक बिकवाली हुई। बीएसई का मिडकैप 1.58 प्रतिशत लुढ़ककर 15,962.99 अंक पर और स्मॉलकैप 1.98 प्रतिशत फिसलकर 17,228.38 अंक पर बंद हुआ। बीएसई में कुल 2,911 कंपनियों के शेयर में कारोबार हुआ, जिनमें से 166 कंपनियों के शेयरों के भाव अपरिवर्तित रहे, जिसमें से 2,190 कंपनियों के शेयरों में गिरावट रही, जबकि 555 कंपनियों में तेजी रही। (वार्ता)

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING