कर्नाटक के परिणामों से निराश सेंसेक्स ने गंवाई 450 अंकों की बढ़त

मंगलवार, 15 मई 2018 (17:01 IST)
मुंबई। आम चुनाव के सेमीफाइनल माने जा रहे कर्नाटक विधानसभा चुनावों में केन्द्र में सत्तारुढ़ भारतीय जनता पार्टी को बहुमत नहीं मिलने से शेयर बाजार निराश हो गया और मंगलवार को कारोबार के दौरान बीएसई के सेंसेक्स ने 450 अंकों की और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) की निफ्टी ने 128 अंकों की बढ़त गंवाई।


कर्नाटक विधानसभा चुनावों की मतगणना शुरू होने पर भाजपा को राज्य में स्पष्ट बहुमत मिलने के रुझान के साथ ही शेयर बाजार ने बढ़त के साथ शुरुआत की। देखते ही देखते बीएसई का सेंसेक्स 36 हजार अंक की ओर बढ़ते हुए 35993.53 अंक के उच्चतम स्तर पर और निफ्टी 11 हजार अंक की ओर लपकते हुए 10929.20 अंक तक चढ़ा।

इसी दौरान चुनाव परिणाम आने लगे और भाजपा की सीटें घटने लगीं, जिसका असर बाजार पर दिखा और मुनाफावसूली शुरू हो गई, जिससे शेयर बाजार आज की तेजी खोते हुए मामूली गिरावट लेकर बंद हुए। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स मामूली उतार के साथ 35537.85 अंक पर खुला।

इसी दौरान वैश्विक स्तर से मिले सकारात्मक संकेतों के साथ ही कर्नाटक में भी भाजपा की सरकार बनने की उम्मीद में हुई लिवाली के बल पर यह 36 हजार अंक की ओर बढ़ते हुए 35993.53 अंक के रिकॉर्ड उच्चतम स्तर तक चढ़ा तभी भाजपा की सीटों में कमी आने के संकेत आने लगे और बाजार में बिकवाली शुरू हो गई जिससे सेंसेक्स 35497.92 अंक के निचले स्तर तक फिसल गया।

आखिर में स्थिति थोड़ी सुधरी जिसके बल पर सेंसेक्स पिछले दिवस के 35556.71 अंक की तुलना में 12.72 अंक अर्थात 0.04 प्रतिशत गिरकर 35543.94 अंक पर रहा। इसी तरह से एनएसई का निफ्टी बढ़त के साथ 10812.60 अंक पर खुला और लिवाली के जोर से यह 11 अंक की ओर बढ़ते हुए 10929.20 अंक के उच्चतम स्तर तक गया। इसी दौरान बिकवाली शुरू होने के साथ ही यह 10781.40 अंक के निचले स्तर तक लुढ़क गया।

अंत में यह पिछले दिवस के 10806.60 अंक की तुलना में 4.75 अंक अर्थात 0.04 प्रतिशत उतरकर 10801.85 अंक पर रहा। बीएसई में कुल 2779 कंपनियों में कारोबार हुआ, जिनमें से 1028 बढ़त में और 1611 गिरावट में रहे, जबकि 140 में कोई बदलाव नहीं हुआ। (वार्ता)

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
आप को जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें-निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING