साइना के सामने 'नंबर 1' चुनौती, सिंधू की राह आसान

मंगलवार, 13 मार्च 2018 (20:27 IST)
बर्मिंघम। पूर्व नंबर एक भारतीय खिलाड़ी साइना नेहवाल को बुधवार से शुरू हो रही ऑल इंग्लैंड बैडमिंटन चैंपियनशिप के पहले ही राउंड में विश्व की नंबर एक खिलाड़ी ताइपे की तेई जू यिंग की कड़ी चुनौती का सामना करना पड़ेगा, जबकि ओलंपिक रजत विजेता पीवी सिंधू की शुरुआती राह आसान है।


वर्ष 2015 में ऑल इंग्लैंड चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचने वाली साइना विश्व रैंकिंग में इस समय 11वें नंबर पर हैं। साइना को गत चैंपियन जू यिंग की चुनौती से पहले पार पाना होगा। साइना का ताइपे की दिग्गज खिलाड़ी के खिलाफ 5-9 का करियर रिकॉर्ड है। दूसरी तरफ चौथी वरीयता प्राप्त सिंधू के सामने पहले राउंड में थाईलैंड की पोर्नपावी चोकूवांग की चुनौती होगी।

सिंधू का 22वीं रैंकिंग की थाई खिलाड़ी के खिलाफ 1-0 का करियर रिेकॉर्ड है। भारत को 2001 के बाद से अपने पहले ऑल इंग्लैंड खिताब की तलाश है। आखिरी बार यह प्रतिष्ठित खिताब जीतने वाले भारतीय खिलाड़ी मौजूदा कोच पुलेला गोपीचंद थे, जिन्होंने 2001 में यह खिताब जीता था।

गोपीचंद से पहले महान प्रकाश पादुकोण ने 1980 में ऑल इंग्लैंड चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया था। महिला वर्ग में सिंधू और साइना जहां भारतीय चुनौती संभालेंगी, वहीं पुरुष वर्ग में शीर्ष भारतीय खिलाड़ी किदाम्बी श्रीकांत पर उम्मीदों का दारोमदार रहेगा। श्रीकांत का पहला मुकाबला फ्रांस के ब्राइस लेवरदेज से होगा।

तीसरी वरीयता प्राप्त श्रीकांत पहली बार लेवरदेज के खिलाफ मुकाबला खेलेंगे। लेवरदेज की विश्व रैंकिंग 23वीं हैं। श्रीकांत के लिए 2017 शानदार वर्ष रहा था और इस दौरान उन्होंने चार सुपर सीरीज़ खिताब जीते थे। श्रीकांत पिछले साल इस टूर्नामेंट के पहले ही दौर में बाहर हो गए थे, लेकिन इस बार उनकी चुनौती के काफी आगे तक जाने की उम्मीद है।

ऑल इंग्लैंड में श्रीकांत के अलावा सिंगापुर ओपन चैंपियन बी साई प्रणीत और विश्व के 12वें नंबर के खिलाड़ी एचएस प्रणय भी अपनी छाप छोड़ने की कोशिश करेंगे। प्रणीत का पहले दौर में पांचवीं सीड और पूर्व नंबर एक कोरिया के सोन वान हो से मुकाबला होगा, जबकि प्रणय आठवीं सीड चीनी ताइपे के चोऊ तिएन चेन से भिड़ेंगे। युगल में इंडोनेशिया ओपन के सेमीफाइनलिस्ट चिराग शेट्टी और सात्विकसेराज रैंकीरेड्डी का मुकाबला जापान के ताकुरो होकी और यूगो कोबायाशी से होगा।

मनु अत्री और बी सुमित रेड्डी के सामने ओपनिंग राउंड में मार्कस एलिस और क्रिस लैंग्रिड की चुनौती होगी। महिला युगल में अश्विनी पोनप्पा और एन सिक्की रेड्डी के सामने दूसरी सीड जापान की मिसाकी मात्सुमो और आयाका ताकाहाशी होगी। इसके अलावा जे मेघना और पूर्विशा राम का मुकाबला पांचवीं सीड जापानी जोड़ी शिहो तनाका और कोहारू योनेमोतो से होगा।

मिश्रित युगल में प्रणव जैरी चोपड़ा और सिक्की अपने अभियान को जर्मन जोड़ी मार्विन एमिल सिडेल तथा लिंडा एफलेर के खिलाफ शुरू करेंगे। इस टूर्नामेंट से विश्व बैडमिंटन संघ का सर्विस का नया नियम लागू होगा, जिसकी दुनियाभर में खिलाड़ियों ने आलोचना की है।

यह देखना दिलचस्प होगा कि इतनी बड़ी प्रतियोगिता में खिलाड़ी सर्विस के नए विवादास्पद नियम से खुद को कैसे ढाल पाते हैं। भारतीय खिलाड़ियों ने भी इस नए सर्विस नियम की आलोचना की थी, लेकिन इसके लिए उन्होंने कड़ा अभ्यास भी किया है। (वार्ता)

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
आप को जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें-निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING