एशियन चैंपियंस ट्रॉफी, विश्वकप के लिए हॉकी कैंप

Webdunia
बुधवार, 12 सितम्बर 2018 (17:36 IST)
नई दिल्ली। एशियाई चैंपियंस ट्रॉफी और इसी वर्ष ओडिशा में आयोजित होने वाले पुरुष विश्वकप के मद्देनजर बुधवार को 25 सदस्यीय पुरुष हॉकी दल की घोषणा की गई जो 16 सितंबर से अगले चार सप्ताह तक भुवनेश्वर स्थित राष्ट्रीय शिविर में तैयारी करेगी।
 
 
हॉकी इंडिया(एचआई) ने 25 सदस्यीय मूल पुरुष हॉकी दल का चयन किया है जो 16 सितंबर से कलिंगा हॉकी स्टेडियम में शुरू हो रहे राष्ट्रीय शिविर में हिस्सा लेगी और मुख्य कोच हरेंद्र सिंह के मार्गदर्शन में तैयारी करेगी। यह अभ्यास शिविर ओमान के मस्कट में 18 अक्टूबर से शुरू हो रहे एशियन चैंपियंस ट्रॉफी टूर्नामेंट से चार दिन पूर्व 14 अक्टूबर को संपन्न होगा। 
 
गत चैंपियन भारतीय पुरुष हॉकी टीम मस्कट में अपने खिताब का बचाव करने उतरेगी। एशियाई खेलों में अपने खिताब का बचाव करने से चूकी टीम के लिए चैंपियंस ट्रॉफी में अच्छा प्रदर्शन पिछली निराशा को दूर करने के लिए अहम होगा। भारत ने इंडोनेशिया में हुए एशियाड में पाकिस्तान को हराकर कांस्य जीता था और अब उसकी निगाहें अपनी मेजबानी में होने वाले विश्वकप में पोडियम फिनिश है। 
 
पुरुष टीम के कोच हरेंद्र के लिए भारतीय टीम का अच्छा प्रदर्शन भी महत्वपूर्ण है जिन्हें एशियाड के बाद टीम को पटरी पर लाने की हिदायत मिली है। कोच ने कहा, हमारे लिए एशियाड का कांस्य सांत्वना पदक था और फाइनल में नहीं पहुंच पाने के लिए कोई बहाना नहीं है। लेकिन अब पीछे मुड़कर देखने का कोई फायदा नहीं है, हम नई शुरुआत के लिए खेलेंगे और अपने व्यवहार को सकारात्मक रखेंगे। 
 
25 सदस्यीय कोर ग्रुप में तीन गोलकीपरों पी आर श्रीजेश, सूरज कारकेरा और कृष्णन पाठक को शामिल किया गया है जबकि डिफेंडरों में हरमनप्रीत सिंह, रूपिंदर पाल और युवा प्रदीप सिंह हैं। मिडफील्डरों में मनप्रीत सिंह, चिंगलेनसाना सिंह, ललित उपाध्याय को चुना गया है। 
 
फारवर्ड में एस वी सुनील, आकाशदीप सिंह, गुरजंत सिंह को संभावितों में शामिल किया गया है जबकि मुख्य स्ट्राइकरों में शामिल रमनदीप सिंह और बीरेंद्र लाकड़ा रिहैबिलिटेशन के कारण बाहर हैं। रमनदीप को एफआईएच चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान घुटने में चोट लग गई थी। 
 
कोच ने कहा, भुवनेश्वर में ट्रेनिंग करने की वजह ओडिशा की परिस्थितियों से अवगत होना और कलिंगा स्टेडियम में खेलने का अनुभव हासिल करना है जहां विश्वकप आयोजित होना है। हमारे लिए 28 नवंबर से होने वाले इस टूर्नामेंट से पूर्व तैयारियों के लिहाज से यह बहुत अहम अभ्यास शिविर है। 
 
हरेंद्र ने कहा कि 18वें एशियाई खेलों में टीम ने जो गलतियां की हैं उसे सुधारने और अपने कमजोर विभागों में सुधार करने के लिहाज से यह अहम है कि खिलाड़ी शिविर में अपने खेल में सुधार कर लें ताकि ओमान में अच्छा प्रदर्शन कर सकें।
 
संभावित टीम इस प्रकार है- गोलकीपर- पी आर श्रीजेश, सूरज कारकेरा, कृष्ण बहादुर पाठक। डिफेंडर-हरमनप्रीत सिंह, रूपिंदर पाल सिंह, गुरिंदर सिंह, वरूण कुमार, कोठाजीत सिंह, सुरेंद्र कुमार,जरमनप्रीत सिंह, प्रदीप सिंह। मिडफील्डर-मनप्रीत सिंह, चिंगलेनसाना सिंह, सुमित, सिमरनजीत सिंह, निलकांता शर्मा, हार्दिक सिंह, ललित कुमार उपाध्याय, विवेक सागर प्रसाद। फारवर्ड-एस वी सुनील, आकाशदीप सिंह, गुरजंत सिंह, मनदीप सिंह, दिलप्रीत सिंह, सुमित कुमार।

खेल पत्रकारिता में बनाएं नए आयाम -पी. नरहरि

एशिया कप : अफगानिस्तान और बांग्लादेश के बीच करो या मरो का मुकाबला

महिला क्रिकेट : जेमिमा की अर्द्धशतकीय पारी से टी-20 में भारत ने श्रीलंका हराया

किस वार को जन्मे हैं आप? जानिए वार अनुसार अपना स्वभाव...

श्री हनुमान चालीसा

सम्बंधित जानकारी

पाकिस्तान पर सबसे बड़ी जीत, देश ने मनाया जश्न

हिमा दास के नाम पर एडिडास ने लांच किया जूता, नाम रखा हिमाडास

मास्टरकार्ड और महेंद्र सिंह धोनी ने मिलाया हाथ

एशिया कप : धोनी को आउट होता देख आगबबूला हुआ नन्हा फैन...

फेडरर ने की एल्प्स की रोमांचक यात्रा, खाई मछली की आंखें

ली चोंग वेई को नाक का कैंसर

ओसाका ने तोक्यो फाइनल में प्रवेश किया

महिला क्रिकेट : जेमिमा की अर्द्धशतकीय पारी से टी-20 में भारत ने श्रीलंका हराया

एशिया कप : हसन, असगर, राशिद पर मैच फीस का 15 प्रतिशत जुर्माना लगा

एशिया कप : अफगानिस्तान और बांग्लादेश के बीच करो या मरो का मुकाबला

अगला लेख