जम्मू कश्मीर की शख्सियत रीता जितेन्द्र की लाइव शो में हार्टअटैक से मौत

सुरेश डुग्गर
सोमवार, 10 सितम्बर 2018 (20:11 IST)
श्रीनगर। मौत कब और कहां से आ जाए, इस बारे में कोई नहीं जानता। सोमवार सुबह दूरदर्शन श्रीनगर केंद्र पर कार्यक्रम में मौजूद गेस्ट को लाइव शो में हार्टअटैक आ गया। शो रोककर अस्पताल ले जाने पर उनकी मौत हो गई। वह शख्सियत थीं जम्मू-कश्मीर कला संस्कृति और भाषा अकादमी की पूर्व सचिव रीता जितेन्द्र।
 
 
85 वर्षीय प्रो. रीता जितेन्द्र सोमवार सुबह डीडी कश्मीर पर लाइव कार्यक्रम 'गुड मॉर्निंग जेएंडके' में गेस्ट के तौर पर मौजूद थीं। राज्य कल्चर अकादमी में हिन्दी एड्वाइजरी बोर्ड की सदस्य होने के साथ-साथ प्रो. रीता की भाषा पर काफी पकड़ थी। वर्ष 2004 में उन्हें अवॉर्ड फॉर सोशल रिफॉर्म एंड एम्पॉवर्मेंट से सम्मानित किया गया था।
 
रियासत में कला और संस्कृति क्षेत्र की जानी-मानी हस्ती और पूर्व जम्मू-कश्मीर कला संस्कृति और भाषा अकादमी की सचिव रीता जितेन्द्र का निधन सोमवार श्रीनगर में एसएमएचएस अस्पताल में हुआ।
 
प्रो. रीता जितेन्द्र परेड महिला कॉलेज से बतौर प्रिंसीपल सेवानिवृत्त हुई थीं, वहीं वे अप्रैल 1993 से 1995 तक जम्मू-कश्मीर कला संस्कृति और भाषा अकादमी में सचिव पद पर रहीं। सेवानिवृत्त होने के बाद भी वे साहित्य जगत में सक्रिय रहीं। वर्तमान में वे राज्य कल्चर अकादमी में हिन्दी एड्वाइजरी बोर्ड की सदस्य भी थीं।
 
प्रोफेसर रीता जितेन्द्र ने फिमेल एक्टिविस्ट के तौर पर महिलाओं के न्याय के लिए काफी संघर्ष किया। देश की आजादी के समय 8 वर्ष की आयु में बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट उन्होंने लाहौर रेडियो स्टेशन में ऑडिशन दिया था। प्रो. रीता ने कई किताबों का लेखन किया है। उनकी लेखनी में समाज का दर्द छलकता है। जम्मू-कश्मीर रेडियो स्टेशन में उन्होंने कई ड्रामाओं में अपनी आवाज दी है।

जिम्बाब्वे में सड़क दुर्घटना में 42 लोगों की मौत, 20 घायल

इन दस्तावेजों से आसानी से बन जाएगा आपका पासपोर्ट

कमलनाथ का बाहुबली अवतार, भल्लालदेव बने शिवराज, सोशल मीडिया पर वायरल हुआ वीडियो

चटपटा चुटकुला : जब लड़की टीवी खरीदने गई

गाय की सेवा करेंगे तो धन-संपत्ति के साथ मिलेगा इतना कुछ कि संभाल नहीं पाओगे, पढ़ें 11 शुभ बातें

सम्बंधित जानकारी

Intelligence Bureau में नौकरी करना चाहते हैं तो जल्दी करें, 1000 से ज्यादा पद

स्मार्ट फोन की बैटरी बचाती है यह तरकीब, गूगल ने बताई

नवजात को दूध पिला रही थी मां, बंदर ने छीनकर मार डाला...

अद्वितीय राजनीतिज्ञ थे पंडित जवाहरलाल नेहरू...

रहमान ने बॉयोग्राफी में खोले राज, 25 साल की उम्र में आते थे खुदकुशी के ख्याल

भाजपा में कलह, बुजुर्ग नेता ने कहा- नहीं तो भाजपा विधायक के दांत गिरा देता...

हॉकनी की पेंटिंग 9.3 करोड़ डॉलर में बिकी, बना नीलामी का नया रिकॉर्ड

मर्सिडीज बेंज ने पेश की नई सीएलएस, कीमत 84.7 लाख से शुरू

हार्दिक को रास आते ऑस्ट्रेलिया के हालात, भारत को खलेगी उनकी कमी : हसी

रेलमंत्री गोयल को नाराज रेलकर्मियों ने खदेड़ा, गमले फेंके और कार के शीशे तोड़े

अगला लेख