जम्मू कश्मीर की शख्सियत रीता जितेन्द्र की लाइव शो में हार्टअटैक से मौत

सुरेश डुग्गर
सोमवार, 10 सितम्बर 2018 (20:11 IST)
श्रीनगर। मौत कब और कहां से आ जाए, इस बारे में कोई नहीं जानता। सोमवार सुबह दूरदर्शन श्रीनगर केंद्र पर कार्यक्रम में मौजूद गेस्ट को लाइव शो में हार्टअटैक आ गया। शो रोककर अस्पताल ले जाने पर उनकी मौत हो गई। वह शख्सियत थीं जम्मू-कश्मीर कला संस्कृति और भाषा अकादमी की पूर्व सचिव रीता जितेन्द्र।
 
 
85 वर्षीय प्रो. रीता जितेन्द्र सोमवार सुबह डीडी कश्मीर पर लाइव कार्यक्रम 'गुड मॉर्निंग जेएंडके' में गेस्ट के तौर पर मौजूद थीं। राज्य कल्चर अकादमी में हिन्दी एड्वाइजरी बोर्ड की सदस्य होने के साथ-साथ प्रो. रीता की भाषा पर काफी पकड़ थी। वर्ष 2004 में उन्हें अवॉर्ड फॉर सोशल रिफॉर्म एंड एम्पॉवर्मेंट से सम्मानित किया गया था।
 
रियासत में कला और संस्कृति क्षेत्र की जानी-मानी हस्ती और पूर्व जम्मू-कश्मीर कला संस्कृति और भाषा अकादमी की सचिव रीता जितेन्द्र का निधन सोमवार श्रीनगर में एसएमएचएस अस्पताल में हुआ।
 
प्रो. रीता जितेन्द्र परेड महिला कॉलेज से बतौर प्रिंसीपल सेवानिवृत्त हुई थीं, वहीं वे अप्रैल 1993 से 1995 तक जम्मू-कश्मीर कला संस्कृति और भाषा अकादमी में सचिव पद पर रहीं। सेवानिवृत्त होने के बाद भी वे साहित्य जगत में सक्रिय रहीं। वर्तमान में वे राज्य कल्चर अकादमी में हिन्दी एड्वाइजरी बोर्ड की सदस्य भी थीं।
 
प्रोफेसर रीता जितेन्द्र ने फिमेल एक्टिविस्ट के तौर पर महिलाओं के न्याय के लिए काफी संघर्ष किया। देश की आजादी के समय 8 वर्ष की आयु में बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट उन्होंने लाहौर रेडियो स्टेशन में ऑडिशन दिया था। प्रो. रीता ने कई किताबों का लेखन किया है। उनकी लेखनी में समाज का दर्द छलकता है। जम्मू-कश्मीर रेडियो स्टेशन में उन्होंने कई ड्रामाओं में अपनी आवाज दी है।

Pulwama attack : कश्मीर में 14 सालों बाद बीएसएफ की तैनाती, कुछ बड़ा होने वाला है...

'स्टैच्यू ऑफ यूनिटी' देखने जाने वाले सैलानियों के लिए 4 मार्च से विशेष ट्रेन

रीवा जिले के दो गांव उजाड़ने के आदेश

श्रीकृष्ण ने युधिष्ठिर से कहा था जरूर रखें घर में यह 5 चीजें, जानिए क्या हैं वे वस्तुएं

किस्मत चमका देंगे, हर काम बना देंगे... बहुत आसान है यह 10 उपाय

सम्बंधित जानकारी

आतंकवाद पर गरजे पीएम मोदी, यह बात करने का नहीं, कड़े एक्शन लेने का समय

कर्मचारी भविष्य निधि के तहत न्यूनतम मासिक पेंशन बढ़ाने का फैसला टला

पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान को सता रहा है भारत के जवाबी हमले का डर...

आसानी से जान सकते हैं कि आपका आधार PAN CARD से जुड़ा या नहीं, जानिए प्रक्रिया...

बड़ा खुलासा, डराने वाले हैं कश्मीर के ये हालात, थोड़े सजग होते तो बच जाते 40 बहादुर जवान...

सिपाही के साहस को सलाम, रेलवे ट्रेक पर घायल यात्री को कंधों पर लेकर डेढ़ किलोमीटर दौड़कर बचाई जान

क्या होने वाला है भारत-पाक युद्ध, जानिए कश्मीर की अफवाहों का सच...

आर्टिकल 35-ए पर सु‍नवाई से पहले अलगाववादी नेता हिरासत में, जानिए क्या है आर्टिकल 35-ए, क्यों मचा है बवाल...

मोदी गोरखपुर से करेंगे प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की शुरुआत

AirIndia विमान को हाईजैक कर पाकिस्तान ले जाने की धमकी..., हाई अलर्ट

अगला लेख