SC/ST एक्ट में बिना नोटिस गिरफ्तारी नहीं, 7 साल से कम सजा वाले मामले में नियम लागू

Webdunia
बुधवार, 12 सितम्बर 2018 (08:22 IST)
लखनऊ। इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने मंगलवार को पुलिस से कहा कि वह उच्चतम न्यायालय के 2014 के एक आदेश द्वारा समर्थित सीआरपीसी के प्रावधानों का पालन किए बगैर एक दलित महिला और उसकी बेटी पर हमले के आरोपी चार लोगों को गिरफ्तार नहीं कर सकती।
 
यह मामला आईपीसी के साथ-साथ अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (उत्पीड़न निरोधक) कानून के तहत दर्ज हुआ था, लेकिन न्यायालय ने पुलिस को तत्काल नियमित (रूटीन) गिरफ्तारी करने से रोक दिया। 
 
उच्च न्यायालय की लखनऊ पीठ में न्यायमूर्ति अजय लांबा और न्यायमूर्ति संजय हरकौली की खंडपीठ ने यह आदेश पारित किया। 
 
साल 2014 में उच्चतम न्यायालय ने अर्णेश कुमार के मामले में आरोपी की गिरफ्तारी पर दिशानिर्देशों का समर्थन किया था।
 
सीआरपीसी की धारा 41 और 41-ए कहती है कि सात साल तक की जेल की सजा का सामना कर रहे किसी आरोपी को तब तक गिरफ्तार नहीं किया जाएगा जब तक पुलिस रिकॉर्ड में उसकी गिरफ्तारी के पर्याप्त कारणों को स्पष्ट नहीं किया जाता।
 
उच्च न्यायालय का आदेश ऐसे समय पर आया है जब अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (उत्पीड़न निरोधक) कानून का दुरूपयोग रोकने के लिए उच्चतम न्यायालय की ओर से पारित आदेश को पलटने की मंशा से हाल में संसद ने इस कानून में संशोधन के लिए एक विधेयक पारित किया है। (भाषा) 

भारत रत्न के बारे में संपूर्ण जानकारी

दिमाग में छिपा है ऑस्टियोपोरोसिस का इलाज, मिल सकेगी ‘चमत्कारी’ सफलता

भारत के धनकुबरों की संपत्ति में प्रतिदिन 2200 करोड़ रुपए का इजाफा...

करवा चौथ पर 6 मजेदार चुटकुले

इस साल तो शादी होकर ही रहेगी, गुरुवार के यह 6 विवाह टोटके देंगे कामयाबी

सम्बंधित जानकारी

K9 वज्र पर सवार हुए पीएम मोदी, देश की पहली तोप जिसे भारतीय प्राइवेट सेक्टर ने बनाया...

नरेन्द्र मोदी सरकार ने पूरा किया पाकिस्तान का सपना

अं‍तरिम बजट में मोदी सरकार दे सकती है ये बड़े तोहफे

राफेल सौदे पर दाम बढ़ाने संबंधी रिपोर्ट 'बकवास' : अरुण जेटली

सवारी गाड़ियों के स्‍थान पर रेलवे चला सकती है मेमू ट्रेन, जानिए क्या है इसकी रफ्तार

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार का बड़ा ऐलान, साधु-संतों को मिलेगी पेंशन

काबुल में खतरनाक स्तर पर पहुंचा वायु प्रदूषण, सांस लेने में हो रही तकलीफ

सरकार का कामकाज ठप होने पर लेडी गागा के निशाने पर ट्रंप और पेंस...

नए गेम ऐप से बढ़ेगी एकाग्रता, शोधकर्ताओं ने विकसित किया 'डीकोडर'

भारत के धनकुबरों की संपत्ति में प्रतिदिन 2200 करोड़ रुपए का इजाफा...

अगला लेख