केरल में बाढ़ के बाद नई मुसीबत, सूख रहे हैं नदियां और कुएं

Webdunia
बुधवार, 12 सितम्बर 2018 (18:42 IST)
तिरुवनंतपुरम। बाढ़ प्रभावित केरल में तापमान बढ़ने के साथ नदियों और कुओं के अप्रत्याशित तौर पर सूखने की खबरों ने राज्य सरकार को फिक्रमंद कर दिया है। सरकार ने बाढ़ के बाद के घटनाक्रम पर वैज्ञानिक अध्ययन कराने का निर्णय किया है। विशेषज्ञों ने सैलाब के बाद कई जिलों में सूखा पड़ने की आशंका व्यक्त की है।
 
 
मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने राज्य विज्ञान, प्रौद्योगिकी एवं पर्यावरण परिषद को घटनाक्रम का अध्ययन करने और समस्या का संभावित समाधान बताने का निर्देश दिया है। सनद रहे कि 20 मई के बाद से केरल में अब तक बाढ़ से मरने वालों का आंकड़ा 491 तक पहुंच चुका है।
पिछले महीने बाढ़ आने के बाद तापमान का बढ़ना, अप्रत्याशित तौर पर नदियों का जलस्तर घटना, अचानक से कुओं का सूखना, भूजल, जलाशयों में गिरावट आना और केंचुओं के सामूहिक खात्मे समेत कई मुद्दों ने केरल के विभिन्न हिस्सों को चिंतित किया है।
 
सैलाब ने समृद्ध जैवविविधता के लिए मशहूर वायनाड जिले को तबाह कर दिया। बड़े पैमाने पर केंचुओं के मरने से किसान चिंतित हैं, क्योंकि उनका मानना है कि इस वजह से धरती तेजी से सूख रही है और मृदा की संरचना में बदलाव हो रहा है।
 
पेरियार, भारतपुझा, पंपा और कबानी समेत कई नदियां बाढ़ के दिनों में उफान पर थीं लेकिन अब उनका जलस्तर असामान्य तौर पर घट रहा है। कुओं के सूखने के अलावा उनके ढहने की भी खबरें हैं। बाढ़ ने कई स्थानों पर भूमि की स्थलाकृति बदल दी है और खासतौर पर इदुक्की और वायनाड जैसे ऊंचाई वाले इलाकों में जमीन में किलोमीटर लंबी दरारें आ गई हैं।
 
विशेषज्ञों ने सैलाब के बाद कई जिलों में सूखा पड़ने की आशंका व्यक्त की है। विजयन ने फेसबुक पर डाले गए एक पोस्ट में कहा कि जलस्तर में गिरावट, भूजल में परिवर्तन और जमीन में पड़ीं दरारों के अध्ययन का काम जल संसाधन प्रबंधन केंद्र को सौंपा गया है।

यूसी ब्राउजर का भारतीय बाजार में नया वर्जन लांच

फुल गारंटी! क्या आप कल्याण सट्‍टे का नंबर जानना चाहेंगे...

चुनाव से पहले शिवराज के लिए आई राहतभरी खबर, कांग्रेस को लगा बड़ा झटका

श्री हनुमान चालीसा

सिद्धार्थ मल्होत्रा के हाथ से निकल गई बड़ी फिल्म, महंगा पड़ा ब्रेक-अप

सम्बंधित जानकारी

खुशखबर, नौकरी जाने पर मिलेगा पैसा, मोदी सरकार की नई योजना

जेट एयरवेज में नहीं मिलेगा मुफ्त भोजन

जान लीजिए वह 16 कारण जिनसे लगता है पितृ दोष...

स्ट्रॉबेरी में मिल रही है सुई, कौन लाया, कहां से आई

Whatsapp पर आ रहे हैं कमाल के नए फीचर्स, तनाव होगा कम

आतंकियों के निशाने पर पुलिस, कश्मीर में कांस्टेबल और तीन एसपीओ का अपहरण

शिवराज ने विपक्ष के आरोपों का दिया जवाब, घोषणाएं पूरी भी करते हैं...

सावधान, ओडिशा पहुंचा चक्रवाती तूफान 'डे', तेज हवाओं के साथ भारी बारिश

विवादों के बीच फ्रांस में राफेल की टेस्टिंग, जल्द ही वायुसेना में शामिल करने की तैयारी

इंडिगो की बस में लगी आग, यात्री सुरक्षित

अगला लेख