दिल्ली ने गुजरात को पीछे छोड़ा, खुश हुए केजरीवाल

शनिवार, 4 अगस्त 2018 (22:49 IST)
नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने देश में निवेश के लिए गुजरात को पीछे छोड़ दिल्ली के सबसे पसंदीदा राज्य बनने के लिए शुक्रवार को अपनी सरकार के काम की तारीफ की।
 
द्वारका में 7 को-ऑपरेटिव आवासीय सोसायटी में 506 किलोवॉट क्षमता के छत पर लगे सौर ऊर्जा संयंत्र के उद्घाटन के मौके पर केजरीवाल ने कहा कि पिछले 3 साल में हर क्षेत्र में चाहे वो स्वास्थ्य हो या शिक्षा या कारोबार, बेहद सुधार हुए हैं। उनकी सरकार सुधार और कई नीतियां ला रही हैं। उन्होंने दावा किया कि पिछले साल तक गुजरात शीर्ष पर था। अब दिल्ली ने निवेश के लिए पसंदीदा राज्य के मामले में गुजरात को पीछे छोड़ दिया है।
 
केजरीवाल ने कहा कि पहली बार इतने बड़े पैमाने पर सौर ऊर्जा संयंत्र लगाए जा रहे हैं। उपभोक्ता इससे 2.50 रुपए प्रति यूनिट बचत कर सकेंगे और आवासीय सोसायटी को बिना किसी निवेश के स्वच्छ व हरित ऊर्जा मिलेगी। एक बयान में केजरीवाल के हवाले से कहा गया कि छतों पर सौर ऊर्जा संयंत्र लगाने से आवासीय सोसायटी 6.5 लाख यूनिट बिजली की बचत करेंगे जिससे सालाना 32 लाख रुपए की बचत होगी।
 
केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में बिजली की दरें मुंबई से सस्ती हैं। उन्होंने कहा कि यदि आप अन्य राज्यों से बिजली की दरों की तुलना करें, दिल्ली में 400 यूनिट पर करीब 1,200 रुपए का खर्च आता है, लेकिन मुंबई में इस पर 4,000 रुपए की लागत आती है। हम निर्बाध बिजली की आपूर्ति कर रहे हैं, जैसा हमने चुनाव में वादा किया था।
 
उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी आने वाले महीनों में राष्ट्रीय राजधानी में आवास कल्याण संगठनों के साथ बैठक करेगी और अन्य अपार्टमेंट और सोसाइटियों में भी इसी तरह की मुहिमों पर जोर दिया जाएगा। (भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING