इस बार ईको फ्रेंडली ईद, बकरे की जगह कटेगा केक

बुधवार, 22 अगस्त 2018 (15:03 IST)
नई दिल्ली। सुनने में अजूबा लगता है, लेकिन इस बार कुछ लोगों ने हर बार से अलग ईको फ्रेंडली ईद मनाने का फैसला किया है। इस दौरान बकरे के स्थान पर बकरे के फोटो वाला केक काटा जाएगा।

गौरतलब है कि बुधवार को पूरे देश में बकरीद मनाई जा रही है। कुर्बानी का त्योहार होने की वजह से मुस्लिम समाज के लोग बकरे की कुर्बानी देकर ईद मनाते हैं। वहीं इस बार यूपी की राजधानी लखनऊ के कुछ लोग इस मौके पर अनोखा काम करने जा रहे हैं।

इन लोगों ने ईको फ्रेंडली त्योहार मनाने के लिए बकरे की जगह बकरे की तस्वीर वाला केक काटने का फैसला किया है। लखनऊ के ही एक व्यक्ति ने बताया कि ईद पर किसी पशु की कुर्बानी जायज नहीं है। उन्होंने कहा कि मैं सभी लोगों से अपील करता हूं कि जानवर को काटने की बजाय केक काटकर ईद का त्योहार मनाएं।

इस मुद्दे पर ट्‍विटर पर भी काफी कमेंट हुए। एक व्यक्ति ने लिखा कि मुझे एक बात समझ नहीं आती कि सालभर करोड़ों-अरबों बकरा, मुर्गा, मछली खाने वालों की नानी बकरीद आने पर ही क्यों मरने लगती है। ये पेटा वाले सालभर कहां रहते हैं।

एक अन्य व्यक्ति ने लिखा कि पानी मुक्त होली, पटाखा मुक्त दीवाली, दहीहांडी मुक्त जन्माष्टमी, दूध मुक्त शिवरात्रि, सेकुलरों ने हमें सिखाया। अब बारी है बकरा मुक्त बकरीद की। तो क्या सेकुलर गैंग बकरीबाजों को समझाएंगे?

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING