देवरिया की दर्दनाक दास्तां, लड़कियों को भेजा जाता था विदेश, कई लड़कियां लापता

मंगलवार, 7 अगस्त 2018 (12:28 IST)
उत्तरप्रदेश के देवरिया जिले में मां विंध्यवासिनी संरक्षण गृह को लेकर चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। सोमवार को महिला एवं बाल विकास विभाग की अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार और एडीजी अंजू गुप्ता जब वहां पहुंचीं तो लड़कियों ने चौंकाने वाले खुलासे किए।


बस्ती की एक युवती ने बताया कि यहां से लड़कियों को विदेश तक भेजा जाता था। युवती के मुताबिक, स्पेन से चार विदेशी, जिसमें दो महिला और दो पुरुष शामिल थे, वे शेल्टर होम में आए थे। बाद में वो विदेशी यहां से एक नाबालिग बच्चा और तीन लड़कियों को अपने साथ ले गए। उन लड़कियों का आज तक कुछ पता नहीं चल सका है। युवती ने यह भी बताया कि यहां से हर रोज रात को चार-पांच लड़कियां बाहर भेजी जाती हैं। दो महीने पहले एक लड़की को रात को भेजा गया, जो अभी तक लापता है।

योगी आदित्यनाथ ने दिए व्यापक निरीक्षण के निर्देश : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी जिला अधिकारियों को बाल गृह और महिला संरक्षण गृह का व्यापक निरीक्षण करने के निर्देश दिए हैं। घटना के बाद देवरिया के जिलाधिकारी सुजीत कुमार को हटा दिया गया है। यह जानकारी महिला एवं बाल विकास मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने दी है। इसके अलावा डीपीओ प्रभात कुमार और बाल कल्याण अधिकारी रेणुका कुमार से इस मामले पर रिपोर्ट तलब की गई है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING