12 घंटे, तीन मुठभेड़, 8 आतंकी मार गिराए, 2 दर्जन सुरक्षाकर्मी जख्मी

सुरेश डुग्गर

गुरुवार, 13 सितम्बर 2018 (18:51 IST)
श्रीनगर। सुरक्षाबलों ने जम्मू कश्मीर में पिछले 12 घंटों में तीन अलग-अलग मुठभेड़ों में 8 आतंकी मार गिराए। इनमें से 3 को वैष्णो देवी यूनिवर्सिटी के पास, तीन को कुपवाड़ा के केरन सेक्टर में एलओसी पर और दो को सोपोर में मार गिराया गया। इन मुठभेड़ों में दो दर्जन से अधिक सुरक्षाकर्मी जख्मी हो गए।
 
बुधवार को झज्जर कोटली में वैष्णो देवी जाने वाले रास्ते पर हमला करने वाले तीनों आतंकियों को आज शाम तक चली मुठभेड़ में मार गिराया गया। इन तीनों को वैष्णो देवी यूनिवर्सिटी के पास ककरियाल में मार गिराया गया। जबकि तीन आतंकियों को सेना की 3 जैक राइफल्स ने कुपवाड़ा के केरन सेक्टर में बलबीर पोस्ट के पास मार गिराया। इससे पहले सोपोर में दो आतंकियों को भी मार गिराया गया।
 
जम्मू से 27 किमी दूर झज्जर कोटली इलाके में सुरक्षाबलों ने बड़ा सर्च अभियान चलाते हुए जैश के तीन पाकिस्तानी आतंकियों को कटरा जाने वाली पुराने मार्ग पर मार गिराया गया। मुठभेड़ में एक पुलिस उपाधीक्षक समेत आठ सुरक्षाकर्मी घायल हो गए। इस बीच कश्मीर के सोपोर में भी दो आतंकियों को मार गिराया गया है।
 
पुलिस अधिकारी ने बताया कि घेराबंदी और तलाश अभियान के दौरान सुरक्षा बल जिले के ककरियाल इलाके में एक घर के नजदीक पहुंच गए और आतंकवादियों की घेराबंदी कर दी। उन्होंने बताया कि सीआरपीएफ, पुलिस और सेना के जवानों के साथ सुरक्षा बल जैसे ही उनके पास पहुंचे मुठभेड़ शुरू हो गई।
 
अधिकारियों ने बताया कि सुरक्षा बलों ने जैश-ए-मुहम्मद के तीन आतंकवादियों का पता लगाने के लिए बुधवार को अभियान शुरू किया जिसमें ड्रोन और हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल किया गया। इन आतंकवादियों को घेर लिया गया। आतंकवादियों की उम्र 18 से 22 साल के बीच है।
 
जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर सुरक्षा बलों पर गोली चलाने के बाद जम्मू और रियासी जिले के झज्जर कोटली वन क्षेत्र में आतंकवादियों को पकड़ने के लिए घेराबंदी और तलाश अभियान शुरू किया गया। घटना के बाद आतंकवादी ककरियाल के जंगल में भाग गए थे। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि अभियान के दौरान एक ग्रामीण ने सुरक्षा बलों को बताया कि तीन आतंकवादी बुधवार रात उनके घर में घुस आए और उनसे कपड़े और खाना मांगा जिसके बाद वे फरार हो गए।
 
इसके लिए हेलीकॉप्टर और ड्रोन की मदद ली गई। गुरुवार को दिनदहाड़े हुई म़ुठभेड़ में सीआरपीएफ के पांच जवान हर्षपालसिंह, पंचमसिंह, अभयसिंह, मनोज कुमार, जाकिर हुसैन और जम्मू कश्मीर पुलिस के दो कर्मी मोहम्मद इकबाल, भानुप्रताप सिंह भी घायल हो गए। सभी को उपचार के लिए नारायणा अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बताया जा रहा है कि तीनों आतंकी सांबा के तरनाह नाले से घुसे थे। इससे रास्ते से पहले भी कई बार घुसपैठ हो चुकी है।
 
इससे पहले बारामुला जिले के सोपोर इलाके में गुरुवार को आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ तड़के चार बजे शुरू हुई। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी के बारे में खुफिया सूचना मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने सोपोर के आरमपोरा इलाके में आज सुबह घेराबंदी की और तलाश अभियान शुरू किया। इस दौरान आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में सुरक्षाबलों ने भी भारी गोलीबारी कर दो आतंकियों को ढेर कर दिया। 
    
उन्होंने बताया कि छिपे हुए आतंकवादियों ने तलाश कर रहे सुरक्षा बलों पर गोलियां चलाईं जिसके बाद सुरक्षा बलों ने भी जवाबी कार्रवाई की और मुठभेड़ शुरू हो गई। उन्होंने बताया कि आतंकियों के मारे जाने के बाद ऑपरेशन खत्म हो गया है। आतंकियों के शव अभी ड्रोन से देखे गए हैं। शव को अभी बरामद नहीं किया गया है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING