मौसम अपडेट : दिल्ली में यमुना उफान पर, बाढ़ का खतरा, 27 ट्रेनें रद्द

सोमवार, 30 जुलाई 2018 (10:55 IST)
बारिश से तबाही का मंजर अभी थमा नहीं था कि मौसम विभाग ने उत्‍तर प्रदेश के तमाम शहरों के लिए फिर से चेतावनी दी है। विभाग की मानें तो अभी 31 जुलाई तक यूपी के कानपुर शहर व आसपास के जिलों में भारी बारिश की संभावना है। दिल्ली में 150 साल पुराना पुल बंद होने से 27 ट्रेनें रद्द करनी पड़ीं। मथुरा और यमुना नगर में बाढ़ का खतरा है।

 
उत्तर भारत और पहाड़ों में हो रही भारी बारिश से यमुना और गंगा का जलस्तर बढ़ रहा है। हरियाणा के हथिनीकुंड बैराज से रविवार शाम 1.18 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया। इस वजह से यमुना उफान पर है। यमुना नगर, करनाल, सोनीपत, पानीपत, पलवल और मथुरा को अलर्ट पर रखा गया है। वहीं दिल्ली में यमुना का जलस्तर रविवार शाम खतरे के निशान को पार कर 205.53 मीटर तक पहुंच गया। रेलवे ने सोमवार को एहतियातन 150 साल पुराने यमुना ब्रिज (लोहा पुल) पर रेल यातायात को बंद कर दिया गया। इससे करीब 27 ट्रेनें रद्द हो गईं और 7 ट्रेनों को डायवर्ट कर दिया गया।
सोमवार को यमुना का जलस्तर 205.65 मीटर तक पहुंचने का अनुमान है। 207 मीटर के लेवल के बाद ही आसपास के इलाकों में पानी घुस सकता है। उधर यमुना का जलस्तर बढ़ने से मथुरा के कई इलाकों में बाढ़ का खतरा बढ़ गया है। प्रशासन ने बताया कि मथुरा में चेतावनी स्तर 165.20 मीटर और खतरे का स्तर 166 मीटर है। यमुना का जलस्तर रविवार देर रात 163 मीटर दर्ज किया गया। किसी भी तरह के हालात से निपटने के लिए यहां अलग-अलग जगह 23 बाढ़ सहायता शिविर बनाए गए हैं। 33 बाढ़ केंद्र स्थापित किए हैं।

 
उत्तर प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में पिछले 24 घंटे के दौरान हुई भारी बारिश से जुड़ी घटनाओं में दस लोगों की मौत हो गई जबकि सात अन्य घायल हो गए। पिछले हफ्ते से अब तक बारिश से जुड़ी घटनाओं में मरने वालों की संख्या बढकर 80 हो गई है। पिछले सप्ताह सबसे अधिक 11 मौतें सहारनपुर में हुईं।

मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे के दौरान पूर्वांचल और उससे सटे जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। आसपास के जिलों में कानपुर देहात, उन्नाव, इटावा, बांदा, हमीरपुर, हरदोई, फतेहपुर, फर्रूखाबाद, जालौन आदि क्षेत्र के लोगों को सावधान रहने की जरूरत है। यहां भारी बारिश का खतरा लगातार मंडरा रहा है।
 
राजधानी सहित पूरे प्रदेश में मूसलधार बारिश जारी है। पटना में मानसून के दौरान जुलाई में होने वाली बारिश का आधा पानी पिछले 30 घंटे में गिरा है। मौसम विभाग ने पूरे प्रदेश को मानसून के रेड जोन में रखा है। इस वजह से अगले 72 घंटे में प्रदेश के 76 से 100 प्रतिशत इलाकों में बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि दो दिन तक उत्‍तर प्रदेश के तमाम शहरों में ऐसा ही रहेगा बारिश का हाल।

पटना में अस्पताल के आईसीयू में तैरती दिखी मछलियां : बिहार की राजधानी पटना समेत प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में तेज बारिश ने आम लोगों का जीना मुहाल कर दिया है। भारी बारिश के कारण पटना स्थित नालंदा मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में इस कदर जलभराव हुआ है कि अस्पताल के आईसीयू में पानी घुस गया और मछलियां तैरती दिखाई दीं। यहां आईसीयू में पानी घुस गया। मरीजों का पानी के अंदर ही उपचार किया जा रहा है। अस्पताल के आईसीयू में मछलियां तैरती दिखीं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING