केरल त्रासदी पर यूएई के सुलतान की दरियादिली, कर डाली 'मोदी' से ज्यादा मदद

मंगलवार, 21 अगस्त 2018 (22:02 IST)
केरल में बाढ़ की विभिषिका ने दुनियाभर में बसे केरलवासियों को हिलाकर रख दिया है। आसमान से बरसी आफत की बारिश से बुरी तरह तबाह हुए केरल को फिर से पटरी पर लाने के लिए देशभर में मदद की मुहीम शुरू हो चुकी है। जहां एक ओर मोदी सरकार ने केरल के लिए 600 करोड़ रुपए की मदद का पैकेज दिया है तो संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) केरल के बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए 700 करोड़ रुपए की मदद देने की दरियादिली दिखाई है।
 
कितने हैरत की बात है कि देश की सरकार अपनों को जितनी सहायता दे रही है, उससे कहीं विदेशों से मदद के लिए हाथ बढ़ रहे हैं। यूएई में मौजूदा समय में 40 लाख भारतीय हैं इनमें से लगभग दस लाख केरल से हैं। यही वजह है कि उन्हें अपने राज्य में हुई तबाही का सबसे ज्यादा दर्द है।
 
यूएई के सुल्तान और राष्ट्रपति शेख मोहम्मद बिन जायेद अल नहयान ने 700 करोड़ रुपए की मदद देने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को सूचित कर दिया है। उन्होंने बताया कि यूएई सरकार ने वहां काम करने वाले केरलवासियों के दु:ख और उनकी भावनाओं के मद्देनजर केरल की सहायता करने का निर्णय लिया है।
 
केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने कहा कि हमें यूएई के सुल्तान की तरफ से संदेश मिल चुका है। उन्होंने इस मुश्किल घड़ी में यूएई के राष्ट्रपति नहयान और उपराष्ट्रपति शेख मोहम्मद बिन राशिद का आभार माना है।
 
मुख्यमंत्री विजयन ने कहा कि फिलहाल हम बहुत बुरे वक्त के दौर से गुजर रहे हैं, जिसका हमें साहस के साथ सामना करना होगा। हमें हर तरह की मदद चाहिए क्योंकि बारिश ने हमारे राज्य में जो तबाही की है, उस नुकसान का आंकड़ा 21 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का है। 
 
सनद रहे कि केरल में लगातार 13 दिनों के बाद अब जाकर बाढ़ का पानी उतरने लगा है और अपने पीछे छोड़ गया है तबाही के भयावह मंजर। जगह-जगह लाशों के ढेर हैं तो बाढ़ ने हजारों बेजुबान जानवरों की बलि ले ली है। बाढ़ के कारण केरल में मरने वालों का आंकड़ा 400 के पार चला गया है।  
 
केंद्र सरकार ने केरल की बाढ़ को 'गंभीर आपदा' करार दिया है। केरल में बाढ़ का पानी जरूर उतरा है लेकिन अब वहां सबसे बड़ा खतरा 'महामारी' होने का हो गया है। राज्य में 10 लाख से ज्यादा लोग राहत शिविरों में पनाह लिए हैं जबकि 40 हजार हैक्टेयर से ज्यादा की फसल तबाह हो गई है। 
 
केंद्र सरकार हालांकि राज्य को 75 फीसदी मदद देने भरोसा दिला रही है लेकिन इससे पहले ही यूएई के सुल्तान शेख मोहम्मद बिन जायेद अल नहयान का दिल 'केरल की त्रासदी' से पसीज गया है और उन्होंने फौरन 700 करोड़ रुपए की मदद का ऐलान कर डाला। देशभर से भी केरल की मदद के लिए हाथ उठ रहे हैं और वाकई ऐसे वक्त में अपनों की मदद करना लाजमी भी है... 

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING