सुप्रीम कोर्ट ने 'माननीयों' के आपराधिक मामलों का मांगा रिकॉर्ड

Webdunia
बुधवार, 12 सितम्बर 2018 (22:21 IST)
नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने सभी राज्यों के मुख्य सचिवों और उच्च न्यायालयों के महापंजीयकों (आरजी) से सांसदों और विधायकों के खिलाफ लंबित आपराधिक मामलों का रिकॉर्ड तलब किया है।
 
 
न्यायमूर्ति रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति नवीन सिन्हा और न्यायमूर्ति केएम जोसेफ की पीठ ने भारतीय जनता पार्टी के नेता अश्विनी कुमार उपाध्याय की याचिका की बुधवार को सुनवाई के दौरान यह भी बताने को कहा है कि क्या सांसदों और विधायकों पर लंबित आपराधिक मुकदमों को दिसंबर 2017 के उसके निर्देशानुसार इन मामलों के लिए गठित विशेष अदालतों में स्थानांतरित कर दिया गया है?
 
केंद्र सरकार ने अपने हलफनामे में बताया है कि अभी तक आंध्रप्रदेश, उत्तरप्रदेश और मध्यप्रदेश सहित 10 राज्यों में 1-1 विशेष अदालत और दिल्ली में 2 विशेष अदालतें काम कर रही हैं।
 
सरकार ने यह भी बताया है कि सांसदों और विधायकों के खिलाफ लंबित 1,233 मुकदमों को विशेष अदालतों में स्थानांतरित किया गया है जिनमें से 136 का निपटारा हो चुका है और 1,097 फिलहाल लंबित चल रहे हैं। याचिकाकर्ता ने सांसदों और विधायकों के ऊपर लंबित आपराधिक मुकदमों के निपटारे के लिए विशेष अदालतें बनाने की मांग की थी।

सावधान, उत्तर कोरिया ने किया नए हाई-टेक हथियार का परीक्षण

भारत में अब तक हुए प्रमुख किसान आंदोलन...

इन दस्तावेजों से आसानी से बन जाएगा आपका पासपोर्ट

चटपटा चुटकुला : जब लड़की टीवी खरीदने गई

गाय की सेवा करेंगे तो धन-संपत्ति के साथ मिलेगा इतना कुछ कि संभाल नहीं पाओगे, पढ़ें 11 शुभ बातें

सम्बंधित जानकारी

Intelligence Bureau में नौकरी करना चाहते हैं तो जल्दी करें, 1000 से ज्यादा पद

स्मार्ट फोन की बैटरी बचाती है यह तरकीब, गूगल ने बताई

नवजात को दूध पिला रही थी मां, बंदर ने छीनकर मार डाला...

अद्वितीय राजनीतिज्ञ थे पंडित जवाहरलाल नेहरू...

रहमान ने बॉयोग्राफी में खोले राज, 25 साल की उम्र में आते थे खुदकुशी के ख्याल

भाजपा में कलह, बुजुर्ग नेता ने कहा- नहीं तो भाजपा विधायक के दांत गिरा देता...

हॉकनी की पेंटिंग 9.3 करोड़ डॉलर में बिकी, बना नीलामी का नया रिकॉर्ड

मर्सिडीज बेंज ने पेश की नई सीएलएस, कीमत 84.7 लाख से शुरू

हार्दिक को रास आते ऑस्ट्रेलिया के हालात, भारत को खलेगी उनकी कमी : हसी

रेलमंत्री गोयल को नाराज रेलकर्मियों ने खदेड़ा, गमले फेंके और कार के शीशे तोड़े

अगला लेख