कश्मीर में छुट्टी पर आए पुलिसकर्मी की अपहरण के बाद हत्‍या

सुरेश एस डुग्गर

शनिवार, 21 जुलाई 2018 (19:45 IST)
श्रीनगर। कश्मीर के कुलगाम जिले के मुतालहामा इलाके से शुक्रवार को अपहृत पुलिस के जवान सलीम शाह का गोलियों से क्षत-विक्षत शव शनिवार को बरामद हुआ है। पुलिस के इस कांस्टेबल का क्षत-विक्षत शव जिले के ही कैमोह इलाके से बरामद किया गया है। आशंका जाहिर की जा रही है कि पुलिस के इस जवान की हत्या आतंकवादियों ने की है। हालांकि, अभी तक इस हत्या की जिम्मेदारी किसी आतंकी संगठन ने नहीं ली है।
 
पुलिसकर्मी की अपहरण के बाद हत्‍या : दक्षिण कश्मीर के कुलगाम में अपने घर छुट्टी बिताने घर आए एक पुलिसकर्मी को बीती रात आतंकियों ने अगवा कर मार डाला। उसे आतंकियों की चंगुल से मुक्त कराने के लिए सुरक्षाबलों ने आतंकियों के संभावित ठिकानों पर छापेमारी भी की थी।
 
यहां मिली जानकारी के अनुसार, कुलगाम के मुतलहामा गांव में बीती रात स्वचालित हथियारों से लैस तीन से चार आतंकी आए। आतंकियों ने अब्दुल गनी शाह के मकान की निशानदेही की और भीतर दाखिल हो गए।
 
बताया जाता है कि आतंकियों ने अब्दुल गनी व उसके परिवार के सभी सदस्यों को एक जगह जमा किया और फिर उसके पुत्र मोहम्मद सलीम शाह को अपने साथ चलने को कहा। सलीम शाह राज्य पुलिस में कांस्टेबल है। वह कुछ समय पहले ही एसपीओ से बतौर कांस्टेबल नियमित हुआ है।
 
अब्दुल गनी व परिवार के अन्य सदस्यों ने आतंकियों का प्रतिरोध किया, लेकिन आतंकियों ने सभी को जान से मारने की धमकी देते हुए चुप रहने को कहा। उन्होंने कहा कि वह मोहम्मद सलीम शाह को पूछताछ के बाद रिहा कर देंगे। इसके बाद आतंकी उसे अपने साथ ले गए और बाद में उसका शव मिला है। मोहम्मद सलीम चंद दिन पहले ही छुट्टी लेकर घर आया था।
 
पुलिसकर्मी को अगवा किए जाने के पता चलते ही सेना, पुलिस और सीआरपीएफ ने उसे आतंकियों से मुक्त कराने के लिए पूरे इलाके में एक तलाशी अभियान चलाया है। अब तक कोई सफलता नहीं मिली थी। यहां यह बताना असंगत नहीं होगा कि गत रोज ही हिजबुल मुजाहिदीन ने त्राल में पोस्टर जारी कर सभी एसपीओ को 15 दिनों में पुलिस की नौकरी छोड़ने का फरमान सुनाया है।
 
वहीं, आतंकियों के फरार होने के बाद परिजनों ने इस बाबत स्थानीय पुलिस को सूचना दी। मामले की गंभीरता को देखते हुए घाटी में तैनात सभी सुरक्षाबलों को इस सनसनीखेज वारदात से सूचित किया गया। जिसके बाद, भारी संख्या में सुरक्षाबल मौके पर पहुंच गए और इलाके की घेराबंदी शुरू कर दी थी।
 
केरिपुब पर हमला : दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग में आतंकियों ने सुरक्षाबलों के काफिले पर फायरिंग करके हमला कर दिया। इस हमले में सीआरपीएफ के दो जवानों को गोली लगी है। घायल दोनों जवानों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
 
बताया जा रहा है कि शनिवार सुबह गश्ती दल पेट्रोलिंग पर निकली थी। इस दौरान बूमजू के मत्तन इलाके में आतंकवादियों ने घात लगाकर उन पर हमला बोल दिया। सुरक्षाबलों ने भी आतंकियों की फायरिंग का जवाब दिया है।
 
आधिकारिक सूत्रों के अनुसार अनंतनाग जिले के पहलगाम रोड पर मट्टन इलाके के बमजू गांव में आतंकियों ने सीआरपीएफ टीम पर हमला कर दिया। हमला करने के बाद आतंकी वहां से भाग निकले। पुलिस ने सुरक्षाबलों के साथ पूरे इलाके को घेर लिया है और आतंकियों की तलाश तेज कर दी गई है।
 
सुरक्षाबलों को सूचना मिली है कि आतंकी अभी भी गांव में ही छुपे हुए हैं। घटना की सूचना पर मौके पर पहुंचे सेना की जवानों ने पूरे इलाके को अपने कब्जे में ले लिया। सूचना मिली है कि आतंकी अभी भी गांव में ही छुपे हुए हैं।
 
केरन में मुठभेड़ : केरन सेक्टर में एलओसी के पास सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ शुरू हो गई है। रिपोर्ट के अनुसार आर्मी की 6 गढ़वाल ने टोनी पोस्ट के पास जंगलों में तलाशी अभियान चलाया तो छिपे हुए आतंकियों ने गोलीबारी शुरू कर दी इसमें एक आतंकी मारा गया है। कुपवाड़ा के एसएसपी अंबरकर श्रीराम दिनकर ने कहा कि मुठभेड़ जारी है। पूरे क्षेत्र को घेर लिया गया है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING