मौसम विभाग जारी करता है रंगों का अलर्ट, जानिए किस अलर्ट का क्या होता है मतलब

सोमवार, 20 अगस्त 2018 (11:52 IST)
केरल में बाढ़ ने चारों तरफ तबाही मचा रखी है। 'भगवान के देश' पर इन्द्र का कोप जारी है। मौसम विभाग ने अगले चार दिन बारिश नहीं होने का अनुमान जताया है। यह केरलवासियों के लिए राहतभरी खबर है। मौसम विभाग के अनुसार, केरल में इस मानसून में सामान्य से 42 प्रतिशत ज्यादा बारिश हुई है। मौसम विभाग समय-समय पर ऐसे रंगों के द्वारा अलर्ट्स जारी करता है।

हर किसी के मन में यह सवाल उठता है कि आखिर ये अलर्ट क्या होते हैं और इनका क्या मतलब होता है। मौसम विभाग कुछ चुनिंदा रंगों का प्रयोग कर समय-समय पर अलर्ट जारी करता रहता है। जैसे रेड अलर्ट, येलो अलर्ट या फिर ऑरेंज अलर्ट। मौसम विभाग के अनुसार अलर्ट्स के लिए रंगों का चुनाव कई एजेंसियों के साथ मिलकर किया गया है। आइए जानते हैं मतलब है इन रंगों का।
 
ग्रीन अलर्ट :  इसका मतलब होता है कि कोई खतरा नहीं है।
ऑरेंज अलर्ट : इस अलर्ट का होता खतरा, तैयार रहें। मौसम विभाग के अनुसार जैसे-जैसे मौसम और खराब होता है तो येलो अलर्ट को अपडेट करके ऑरेंज कर दिया जाता है। इसमें लोगों को इधर-उधर जाने के प्रति सावधानी बरतने को कहा जाता है।
रेड अलर्ट : इस अलर्ट का होता है सबसे खतरनाक स्थिति। मौसम विभाग ने बताया कि जब मौसम खतरनाक स्तर पर पहुंच जाता है और भारी नुकसान होने की आशंका होती है तो रेड अलर्ट जारी किया जाता है।  
येलो अलर्ट : खतरे के प्रति सावधान रहें। मौसम विभाग के अनुसार येलो अलर्ट के तहत लोगों को सचेत रहने के लिए अलर्ट किया जाता है। यह अलर्ट जस्ट वॉच का सिग्नल है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING