मेहुल चौकसी पर ईडी का बड़ा खुलासा, बाहर भेजे 3250 करोड़

Webdunia
बुधवार, 12 सितम्बर 2018 (07:41 IST)
नई दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय की जांच में पाया गया है कि भगोड़े आभूषण कारोबारी मेहुल चौकसी ने पीएनबी की मुबंई शाखा से धोखाधड़ी के जरिए हासिल 3,250 करोड़ रुपए की राशि देश से बाहर भेज दी थी और उसकी दुकान से बेचे जाने वाली बेशकीमती धातुओं के ज्यादा कीमतों पर बेचने के काम में लगा था। कारोबारी ने हालांकि इन आरोपों को खारिज किया है।
 
दो अरब डॉलर (करीब 13,000 करोड़) की कथित बैंक धोखाधड़ी की जांच कर रही एजेंसी ने कहा है कि चौकसी ने रुपयों की हेराफेरी और अपने निजी इस्तेमाल के लिए धन को देश के बाहर भेजने के वास्ते ‘कुछ खोखा कंपनियों’ का इस्तेमाल किया। इस मामले में चोकसी के भांजा नीरव मोदी भी आरोपी हैं।
 
प्रवर्तन निदेशालय ने अपने आरोपपत्र में कहा है कि चौकसी ने ऋण का 5.612 करोड़ अमेरिकी डॉलर नीरव मोदी और पांच करोड़ डॉलर मोदी के पिता दीपक मोदी को भेजा।
 
हालांकि चौकसी ने कुछ मीडिया संगठनों से बातचीत में ईडी के आरोपों को ‘झूठा और आधारहीन’ करार दिया है। उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्रीय एजेंसी ने उनकी संपत्तियों को ‘गैर-कानूनी’ तरीके से कुर्क किया है। (भाषा) 

गुजरात में 500 करोड़ का फर्जी जीएसटी बिल घोटाला

अमित शाह को महंगी पड़ी मालदा रैली, तबीयत फिर बिगड़ी

पाकिस्तान में बस हादसे में 27 लोगों की मौत

अगर आपके घर भी हैं ये 5 चीजें तो तुरंत बदल डालें, आपको कंगाल बना सकती हैं ये गलतियां

छोटी सी राई हर संकट को रोके, पढ़ें 5 बड़े काम के टोटके

सम्बंधित जानकारी

अब आसानी से बनेगा पासपोर्ट, शुरू होगी इलेक्ट्रॉनिक चिप आधारित ई-पासपोर्ट सेवा

#10YearsChallenge : खेल नहीं सबसे 'बड़ा धोखा', क्या आपने भी सोशल मीडिया कर किया था कुछ पोस्ट?

अमेरिकी एक्सपर्ट के दावों से आया भूचाल, गोपीनाथ मुंडे की मौत को जोड़ा हैकिंग से...

राफेल से जुड़े महत्वपूर्ण कागज अन्ना हजारे के पास, कहा- प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में करेंगे बड़ा ऐलान...

हाई रिटर्न के लिए सोने में कब और कैसे निवेश करें

नशे में विमान अपहरण का प्रयास, चालक दल को दी धमकी, अफगानिस्तान ले जाना चाहता था विमान

नेपियर में भारत और न्यूजीलैंड के खिलाफ पहला वनडे, इन 5 खिलाड़ियों पर होगी सबकी नजर

रूसी जलसीमा में दो पोतों में आग लगी, 14 की मौत

सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, हिंदू महिला की मुस्लिम पुरुष से शादी वैध नहीं, लेकिन उनकी संतान जायज

राष्ट्रपति कोविंद ने 26 बच्चों को राष्ट्रीय पुरस्कारों से नवाजा

अगला लेख