तृणमूल नेताओं को रातभर सिल्चर हवाईअड्डे पर रोका, ममता ने बताया 'सुपर इमरजेंसी'

शुक्रवार, 3 अगस्त 2018 (10:28 IST)
सिलचर। असम के सिलचर हवाईअड्डे पर रात भर रोके जाने के बाद तृणमूल कांग्रेस के आठ सदस्यीय शिष्टमंडल के छह सदस्य शुक्रवार सुबह वापस लौट गए जबकि अन्य दो दिन में लौटेंगे। इस बीच ममता बनर्जी ने भाजपा पर देश में सुपर इमरजेंसी लगाने का आरोप लगाया है। 
 
काछाड़ जिले के उपायुक्त एस लक्ष्मणन ने बताया कि दो अन्य सांसद ममताबाला ठाकुर और अर्पिता घोष आज दिन में राज्य से लौट जाएंगे। कल दोपहर सिलचर हवाईअड्डे पर उतरने के बाद शिष्टमंडल के सदस्यों को एहतियात के तौर पर रोक लिया गया था।
 
रोके गए सांसदों में शामिल राज्यसभा सदस्य सुखेंदु शेखर रॉय ने कहा, हम वापस जा रहे हैं। पुलिस ने हमें बाहर जाने की इजाजत नहीं दी। हमने कई बार उनसे आग्रह किया लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया। हमने हवाईअड्डे पर तीन कमरों में रात बिताई।
 
इस शिष्टमंडल में रॉय के अलावा, सांसद काकोली घोष दस्तीदार, रत्ना डे नाग और नदीमुल हक, पश्चिम बंगाल सरकार के मंत्री फिरहाद हकीम और विधायक मोहुआ मैत्रा शामिल थे।
 
इन सभी को तृणमूल कांग्रेस की सुप्रीमो तथा पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राष्ट्रीय नागरिक पंजी का मसौदा आने के बाद असम में स्थिति का जायजा लेने के लिए भेजा था।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING