डिप्रेशन का शिकार हुए लालू प्रसाद यादव

Webdunia
मंगलवार, 11 सितम्बर 2018 (09:07 IST)
रांची। नौ सौ पचास करोड़ रुपए के चारा घोटाले में सजा काट रहे मामले के मुख्य अभियुक्त राजद अध्यक्ष एवं बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव अब डिप्रेशन के शिकार बताए गए हैं। उनका इलाज कर रहे चिकित्सकों ने अपनी रिपोर्ट में इस बात का उल्लेख किया है।


रांची स्थित राजेन्द्र आयुर्विज्ञान संस्थान के निदेशक आरके श्रीवास्तव ने यहां बताया कि लालू यादव डिप्रेशन से ग्रस्त हैं। श्रीवास्तव ने बताया कि लालू यादव डिप्रेशन में हैं। उनका इलाज कर रहे चिकित्सकों ने अपनी रिपोर्ट में इस बात का उल्लेख किया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ने भी लालू यादव को अपने यहां से डिस्चार्ज करते हुए उनके डिप्रेशन में होने की बात का उल्लेख किया था।

डिप्रेशन में होने के चलते लालू यादव को किसी मनोचिकित्सक को दिखाने के बारे में पूछे जाने पर श्रीवास्तव ने कहा कि अभी इस बारे में कोई विचार नहीं किया गया है। लालू यादव को पिछले बुधवार को रिम्स के प्राइवेट वार्ड में स्थानांतरित कर दिया गया था जिसमें उन्हें एक हजार रुपए प्रतिदिन के हिसाब से कमरे का शुल्क देना होगा। श्रीवास्तव ने बताया कि प्राइवेट वार्ड में लालू को स्थानांतरित करने के लिए जेल प्रशासन की अनुमति ली गई थी।

लालू ने रिम्स के सामान्य वार्ड में चिकित्सा के दौरान गंदगी, मच्छरों की समस्या और कुत्तों के भौंकने की शिकायत की थी जिसके बाद उनके अनुरोध पर उन्हें प्राइवेट वार्ड में स्थानांतरित करने का फैसला किया गया था। इससे पहले लालू यादव ने अंतरिम जमानत पर विभिन्न बीमारियों का इलाज कराने के बाद झारखंड उच्च न्यायालय के आदेश के अनुसार केंद्रीय जांच ब्यूरो की दोनों विशेष अदालतों के समक्ष 30 अगस्त को यहां आत्मसमर्पण कर दिया था।

उसके बाद अदालतों के आदेश पर उन्हें सजा काटने के लिए वापस बिरसामुंडा जेल भेज दिया गया जहां से कारागार के चिकित्सक ने उन्हें उचित इलाज के लिए रिम्स अस्पताल भेज दिया था। सीबीआई की दोनों विशेष अदालतों ने लालू को न्यायिक हिरासत में लेकर वापस बिरसा मुंडा जेल भेजने के आदेश दिए थे। लालू के अधिवक्ताओं ने लालू को इलाज के लिए रिम्स अस्पताल में भर्ती कराने का अनुरोध किया था जिसके बाद अदालतों ने जेल प्रशासन को लालू के स्वास्थ्य का उचित ख्याल रखने के निर्देश दिए।

अदालत के आदेश के मद्देनजर लालू यादव को जेल ले जाया गया जहां के चिकित्सक ने लालू यादव को जांच एवं उचित इलाज के लिए रिम्स अस्पताल रेफर कर दिया था। बाद में लालू यादव को रिम्स ले जाया गया था जहां डाक्टर उमेश प्रसाद की यूनिट में उनकी चिकित्सा चल रही है। झारखंड उच्च न्यायालय ने 24 अगस्त को लालू प्रसाद यादव को विशेष सीबीआई अदालत के समक्ष आत्मसमर्पण करने के आदेश दिए थे। अदालत ने लालू को आत्मसमर्पण करने के लिए 30 अगस्त तक की मोहलत दी थी।

इससे पूर्व उच्च न्यायालय ने पिछली सुनवाई के दौरान राष्ट्रीय जनता दल के प्रमुख लालू प्रसाद यादव की चारा घोटाले के देवघर कोषागार समेत सभी तीन मामलों में स्वास्थ्य कारणों से दी गई अंतरिम जमानत की अवधि को आगे बढ़ाने से इनकार कर दिया था। अदालत ने कहा था कि आवश्यक होने पर अब लालू का यहां रिम्स अस्पताल में इलाज होगा।

झारखंड उच्च न्यायालय में न्यायमूर्ति अपरेश कुमार सिंह की पीठ ने इस मामले की सुनवाई करते हुए लालू के अधिवक्ताओं की अंतरिम जमानत की अवधि बढ़ाने की दलील को 24 अगस्त को अस्वीकार कर दिया था। अदालत ने लालू को सीबीआई की विशेष अदालत के समक्ष आत्मसमर्पण करने के निर्देश दिए थे। लालू यादव चारा घोटाले के चार विभिन्न मामलों में दोषी करार दिए जाने के बाद चौदह वर्ष की सजा काट रहे हैं।

OMG! ट्रंप की तरह दिखता है यह कुत्ता, जीता पुरस्कार

नवरात्र में चमका सोना, चांदी की चमक लौटी

भाजपा में वंशवाद के नए चेहरे, नेताओं के 30 बेटे और बेटियों को मिला टिकट

बाप-बेटे दोनों के साथ... ये अभिनेत्रियां लड़ा चुकी हैं इश्क

16 नवंबर 2018 का राशिफल और उपाय...

सम्बंधित जानकारी

Intelligence Bureau में नौकरी करना चाहते हैं तो जल्दी करें, 1000 से ज्यादा पद

स्मार्ट फोन की बैटरी बचाती है यह तरकीब, गूगल ने बताई

नवजात को दूध पिला रही थी मां, बंदर ने छीनकर मार डाला...

अद्वितीय राजनीतिज्ञ थे पंडित जवाहरलाल नेहरू...

रहमान ने बॉयोग्राफी में खोले राज, 25 साल की उम्र में आते थे खुदकुशी के ख्याल

#Metoo : बीसीसीआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल जौहरी ने 10 घंटे तक दर्ज कराया बयान

मासूम बच्ची के बलात्कारी हत्यारे की फांसी की सजा बरकरार

मुसीबत में फंस सकते हैं बल्क में साड़ी, कपड़े खरीदने और बेचने वाले

भारत के लिए वृहद आर्थिक परिदृश्य बड़ा जोखिमभरा

BMW ने M2 कॉम्पिटिशन का नया मॉडल उतारा, कीमत जानकर हो जाएंगे हैरान...

अगला लेख