मरीना बीच पर ही होगा करुणानिधि के पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार, मद्रास हाईकोर्ट का फैसला

बुधवार, 8 अगस्त 2018 (07:59 IST)
मद्रास हाईकोर्ट ने फैसला दिया है कि तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री और दिवंगत डीएमके नेता एम. करुणानिधि के पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार मरीना बीच पर ही होगा। तमिलनाडु सरकार ने पहले मरीना बीच पर जगह देने से इंकार कर दिया था। सरकार का कहना था कि जमीन को लेकर मद्रास हाईकोर्ट में तमाम केस चल रहे हैं और कानूनी अड़चनें हैं।  मंगलवार रात हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के घर पर सुनवाई शुरू हुई थी। डीएमके का कहना है कि उनके नेता के शव को मरीना बीच पर स्थान मिले, जहां तमिलनाडु की राजनीति के दिग्गजों के शव दफनाए गए थे. लेकिन प्रदेश की एआईएडीएमके सरकार ने इसकी अनुमति नहीं दी। डीएमके इसके खिलाफ हाईकोर्ट चली गई थी और देर रात ही इस मसले पर अदालत बैठी थी।

अब मद्रास हाईकोर्ट ने इसमें अपना फैसला दे दिया है। करुणानिधि की समाधि को लेकर चली लंबी सुनवाई के बाद मद्रास हाईकोर्ट का फैसला आया। मरीना बीच पर ही बनेगी करुणानिधि की समाधि। सरकार की ओर से इजाजत न दिए जाने के बाद डीएमके ने दायर की थी। फैसले की खबर आते ही डीएमके समर्थकों में खुशी की लहर दौड़ गई।
 
- करुणानिधि को श्रद्धांजलि देने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी चेन्नई पहुंचे।  
- करुणानिधि के समाधि स्थल को लेकर सुनवाई जारी, सभी 5 याचिकाकर्ताओं ने अपनी अर्जी वापस ली
- पुलिस ने समर्थकों को काबू करने के लिए लाठीचार्ज किया। 
 
- निधन के बाद उनका शव पहले गोपालपुरम स्थित उनके आवास लाया गया था जहां से बाद में उनकी बेटी और राज्य सभा सांसद कनिमोझी के घर ले जाया गया। लेकिन लोगों की भारी भीड़ को देखते हुए पार्थिव शरीर को तिरंगे में लपेट कर राजाजी हाल में रखा गया जहां लोग उनके अंतिम दर्शन कर रहे हैं। 
 
- तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री और द्रमुक अध्यक्ष एम करूणानिधि का पार्थिव शरीर बुधवार सुबह राजाजी हाल लाया गया जहां उनके अंतिम दर्शन के लिए लोगों की भारी भीड़ जमा है।
 
-  राज्य के राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित ने राजाजी हाल जाकर दिवंगत नेता को पुष्पांजलि अर्पित की। उन्होंने द्रमुक कार्यकारी अध्यक्ष एम के स्टालिन के साथ भी कुछ समय तक बातचीत।

- केन्द्र सरकार ने दिवंगत द्रमुक अध्यक्ष एवं तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री एम करुणानिधि का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किये जाने और एक दिन के राष्ट्रीय शोक की घोषणा की है।

तमिलनाडु सरकार ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्रियों का अंतिम संस्कार मरीना बीच पर नहीं हुआ है। तमिलनाडु सरकार ने गांधी मं‍डपम में अंतिम संस्कार करने की बात कही है। 
 
 
- कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, सीपीआई प्रमुख सीताराम येचुरी, लेफ्ट नेता डी राजा समेत कई विपक्षी नेताओं और अभिनेता रजनीकांत ने डीएमके की इस मांग का समर्थन किया और सरकार से मरीना बीच पर दिवंगत नेता के लिए जगह देने की अपील की।
 

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING