इंटरनेट पर अंग्रेजी हिन्दी के बीच की डिजिटल खाई हुई समाप्त

शनिवार, 15 सितम्बर 2018 (00:06 IST)
नई दिल्ली। देश की पहली लिंग्विस्टिक ई-मेल सेवा 'डेटामेल' ने इंटरनेट की दुनिया में अंग्रेजी के वर्चस्व को तोड़ते हुए हिन्दी दिवस के अवसर पर इंटरनेट पर भाषा की आजादी का संकल्प लिया है।
 
 
भाषाई ई-मेल सेवा डेटामेल को संचालित करने वाली कंपनी डेटा एक्सजेन प्लस टेक्नोलॉजी के संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी अजय डेटा ने शुक्रवार को यहां जारी बयान में कहा कि भारत को एक ऐसे पारिस्थितिकी तंत्र, जिसमें सॉफ्टवेयर, हार्डवेयर और अन्य सामग्री शामिल हैं, के विकास का जश्न मनाना चाहिए जिसने मिलकर इंटरनेट को सही मायने में समावेशी बना दिया है।
 
उन्होंने कहा कि हिन्दी के साथ ही अन्य क्षेत्रीय भाषाओं में बुनियादी इंटरनेट अवसंरचना के साथ डोमेन नेम ने देश में डिजिटल खाई को पाटने में उत्प्रेरक का काम किया है। देश में करीब 55 करोड़ लोग अपनी भाषा के रूप में हिन्दी का उपयोग कर रहे हैं। इस वजह से डेटामेल द्वारा संचालित भाषाई ई-मेल सेवा उन लाखों लोगों को इंटरनेट शक्ति प्रदान करती है, जो अंग्रेजी से खासे परिचित नहीं हैं।
 
उन्होंने कहा कि व्यक्तियों के बीच संचार और जुड़ाव में भाषा बुनियाद होती है। आगे बढ़कर यह उन नवाचारों की ओर लेकर जाएगी जिसकी कल्पना अभी नहीं की जा सकती। (वार्ता)

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING