भारत को अमेरिका से मिलेगी उच्च रक्षा प्रौद्योगिकी, करार पर किए हस्‍ताक्षर

गुरुवार, 6 सितम्बर 2018 (16:26 IST)
नई दिल्ली। भारत और अमेरिका ने गुरुवार को एक करार पर हस्ताक्षर कर दिए, जिस पर लंबे समय से दोनों पक्ष चर्चा कर रहे थे। इस करार के तहत भारतीय सेना को अमेरिका से महत्वपूर्ण एवं एन्क्रिप्टिड (कूट रूप से सुरक्षित) रक्षा प्रौद्योगिकियां मिलेंगी।


अधिकारियों ने यहां बताया कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण की अमेरिकी विदेश मंत्री एमआर पोम्पिओ तथा रक्षामंत्री जेम्स मैटिस के साथ पहली 'टू प्लस टू' वार्ता के बाद संचार, संगतता, सुरक्षा समझौते (कम्यूनिकेशंस कम्पैटिबिलिटी एंड सिक्योरिटी एग्रीमेंट) पर हस्ताक्षर किए गए।

सीओएमसीएएसए (कॉमकासा) करार होने से भारत को अमेरिका से महत्वपूर्ण रक्षा प्रौद्योगिकियां हासिल करने का रास्ता साफ हो जाएगा और अमेरिका तथा भारतीय सशस्त्र बलों के बीच अंतर-सक्रियता के लिए महत्वपूर्ण संचार नेटवर्क तक उसकी पहुंच होगी। अधिकारियों ने कहा कि इससे अमेरिका से मंगाए जा रहे रक्षा प्लेटफॉर्मों पर उच्च सुरक्षा वाले अमेरिकी संचार उपकरणों को लगाया जा सकेगा। (भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING