हार्दिक पटेल का आमरण अनशन खत्म, कहा- सरकार के सामने नहीं झुका

Webdunia
बुधवार, 12 सितम्बर 2018 (16:11 IST)
अहमदाबाद। पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति (पास) के नेता हार्दिक पटेल ने किसानों की कर्ज माफी, पाटीदार आरक्षण और राजद्रोह के मामले में जेल में बंद अपने एक साथी अल्पेश कथिरिया की रिहाई की मांग को लेकर गत 25 अगस्त से चल रहे उनके आमरण अनशन को आज 19वें दिन समाप्त कर दिया।


पाटीदार समुदाय के प्रमुख धार्मिक संगठन उमिया धाम के प्रमुख प्रहलाद पटेल, खोडलधाम के चेयरमैन नरेश पटेल तथा इन दोनों समेत छह संगठनों के प्रतिनिधियों के समन्वयक सीके पटेल के हाथों नींबू-पानी, नारियल पानी और पानी पीकर अनशन समाप्त करने के बाद हार्दिक ने कहा कि वे अपने समाज के वरिष्ठों को सम्मान देने के लिए उनके समक्ष झुके हैं। वे सरकार के समक्ष नहीं झुके हैं।

उन्होंने कहा कि समाज के वरिष्ठजनों ने कहा है कि वे सरकार से बात करेंगे। अगर सरकार हमारी बात मानती है तो ठीक है, अगर यह नहीं मानती है तो यह माना जाएगा कि उसे हमारी जरूरत नहीं है। उन्होंने अपने संबोधन के अंत में सत्तारुढ़ भाजपा के प्रति अपनी नाराजगी भी जाहिर की।

कांग्रेस के करीबी माने जाने वाले हार्दिक ने भाजपा का नाम लिए बिना कहा कि यह भी सोचना होगा कि समुदाय कब तक गुलामी की मानसिकता रखेगा। उन्होंने यह भी कहा कि उनकी लड़ाई गरीब किसानों और मात्र दस-पंद्रह हजार रुपए कमाने वाले शहर के ऐसे गरीब पाटीदारों के लिए है जो अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा तक नहीं दिला सकते। इससे पहले पाटीदार समाज के नेताओं ने आपसी एकता और संगठन की ताकत पर जोर दिया।

सीके पटेल ने यह भी कहा कि इस बात के लिए होशियार रहना होगा कि कोई समुदाय को विभाजित न करे अथवा तोड़े नहीं। इस बीच, हार्दिक के पूर्व साथी और भाजपा नेता केतन पटेल ने कहा कि पाटीदार समाज ने अब समझ लिया है कि हार्दिक पटेल राजनीतिक कारणों से आंदोलन को किसी तरह जिंदा रखना चाहते हैं।

राज्य सरकार ने पहले ही पाटीदार आंदोलन संबंधी अधिकतर संभव मांगों को मान लिया था और आंदोलन तभी समाप्त हो जाना चाहिए था, पर हार्दिक अपनी निजी महत्वाकांक्षा को लेकर इसे किसी तरह जारी रखना चाहते थे। इसलिए अब उन्हें कोई समर्थन नहीं मिल रहा है। उनके पिछले कार्यक्रमों के दौरान हुई तोड़फोड़ और हिंसा के चलते बाहर उपवास आंदोलन की अनुमति नहीं मिलने पर यहां अपने आवास ग्रीनवुड रिसोर्ट में आमरण अनशन पर बैठे हार्दिक पटेल को उपवास के 14वें दिन सात सितंबर को पहले सरकारी अस्पताल में और बाद में निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

इलाज के बाद 9 सितंबर को वापस वे अपने आवास पर आकर अनशन पर बैठ गए। आज कुल मिलाकर उनके अनशन का 19वां दिन था। उन्होंने इस बीच दो बार पानी का त्याग भी किया था, पर इसे फिर से लेना शुरू कर दिया था। हार्दिक कैंप की ओर से बार-बार दिए गए अल्टीमेटम के बावजूद राज्य की भाजपा सरकार ने इस बार कड़ा रुख बनाए रखा।

उसने कहा कि हार्दिक ने पिछले चुनाव में कांग्रेस का समर्थन किया था कि अब भी वह उसी के इशारे पर आगामी लोकसभा चुनाव में उसे लाभ दिलाने की नीयत से यह आंदोलन कर रहे हैं। हार्दिक से मिलने वालों में अधिकतर कांग्रेस के नेता थे, इसके अलावा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के धुर विरोधी माने जाने वाले पूर्व मंत्री यशवंत सिन्हा, शत्रुघ्न सिन्हा तथा कई अन्य चेहरे शामिल थे।

आज हार्दिक के अनशन के समापन के मौके पर कांग्रेस के कई विधायक और गढड़ा के स्वामीनारायण मंदिर के प्रमुख एसपी स्वामी भी उपस्थित थे। बाद में सीके पटेल ने कहा कि कुछ दिन पहले सरकार को पाटीदार समुदाय से जुड़े मामलों की एक सूची दी गई है और अब इसमें कुछ और विषयों को जोड़ा जाएगा। उम्मीद है कि सरकार इसे गंभीरता से लेकर इन्हें हल करेगी।

समुदाय की छह संस्थाएं (उक्त दो के अलावा सरदार धाम और विश्व उमिया फाउंडेशन अहमदाबाद, समस्त पाटीदार समाज, सूरत तथा सिदसर उमिया धाम) पाटीदार आरक्षण के मामले में कानूनी लड़ाई भी लड़ रही है। उन्होंने यह भी कहा कि राज्य सरकार ने पाटीदार आंदोलन के 70 प्रतिशत मुकदमे वापस ले लिए हैं, बाकी 30 प्रतिशत पर भी चर्चा जारी है। नरेश पटेल ने कहा कि राजद्रोह के मामले में गिरफ्तार कथिरिया की रिहाई के मामले को भी प्रमुखता से उठाया जाएगा। (वार्ता) 

प्रधानमंत्री मोदी की सबसे बड़ी योजना को छत्तीसगढ़ में बड़ा झटका!

बीएसएनएल का 5जी सेवाओं के लिए सॉफ्टबैंक और एनटीटी से करार

क्या ऑटो चलाकर परिवार का पेट पालते हैं ‘PM मोदी के भाई’.. जानिए सच..

किस वार को जन्मे हैं आप? जानिए वार अनुसार अपना स्वभाव...

बार-बार पेशाब आने के 5 कारण और उपाय

सम्बंधित जानकारी

चौंकाने वाली रिपोर्ट, शराब पीने से हर साल होती है 30 लाख लोगों की मौत

अब जियो टीवी पर देख सकेंगे क्रिकेट मैच

खुशखबर, नौकरी जाने पर मिलेगा पैसा, मोदी सरकार की नई योजना

जेट एयरवेज में नहीं मिलेगा मुफ्त भोजन

जान लीजिए वह 16 कारण जिनसे लगता है पितृ दोष...

पाकिस्तान पर बड़ी जीत के बाद रोहित शर्मा ने इसका श्रेय पूरी टीम को दिया

'गब्बर' और 'हिटमैन' ने पाकिस्तान को 9 विकेट से धो डाला

भोपाल में 'कार्यकर्ता महाकुंभ' को मेगा-शो बनाने में जुटी भाजपा

प्रधानमंत्री मोदी की सबसे बड़ी योजना को छत्तीसगढ़ में बड़ा झटका!

टीम इंडिया ने देश को दिया गणेश विसर्जन का तोहफा, पाकिस्तान को 9 विकेट से रौंदा

अगला लेख