भारतीय सेना में बड़े स्तर पर सुधार, जनरल रावत शीर्ष कमांडरों के साथ करेंगे चर्चा

Webdunia
सोमवार, 10 सितम्बर 2018 (23:09 IST)
नई दिल्ली। सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत और शीर्ष कमांडर सैन्य संगठन के पुनर्गठन और करीब 1,00,000 सैनिकों की संभावित कटौती समेत सेना में बड़े सुधारों पर मंगलवार चर्चा कर सकते हैं।
 
 
आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि सेना का शीर्ष नेतृत्व कैडर समीक्षा तथा दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी सेना को हल्का और सार्थक बनाने के लिए जरूरी कदमों समेत विभिन्न मुद्दों पर चर्चा करेगा।

ऐसे संकेत हैं कि सेना पुनर्गठन के तौर पर अगले 5 सालों में 1,00,000 से अधिक सैनिकों की कटौती कर सकती है। फिलहाल सेना में करीब 13 लाख सैन्यकर्मी हैं। रक्षा मंत्रालय पहले ही सेना के लिए विभिन्न सुधारों की घोषणा कर चुका है जिनमें करीब 57,000 अधिकारियों और अन्य कर्मियों की पुनर्तेनाती और संसाधनों का बेहतर इस्तेमाल शामिल है।
 
सूत्रों ने कहा कि सेना प्रमुख और शीर्ष कमांडर विभिन्न पहलों पर चर्चा करेंगे जिनका लक्ष्य सेना को हल्का और सार्थक बनाना है। उनके अनुसार कैडर समीक्षा के तहत सेना ब्रिगेडियर रैंक खत्म करने पर भी विचार कर रही है। एक उच्चस्तरीय समिति ने सेना की लड़ाकू क्षमता को बढ़ाने के लिए कई सिफारिशें की है। 

इंदौर में आज पीएम मोदी की सभा, 18 सीटों पर होगा असर

सनसनीखेज, 16 साल के लड़के ने 61 वर्षीय बुजुर्ग को मार डाला

शिवराज का चुनावी वादा, 12वीं में 75% से ज्यादा लाओ, मिलेगी स्कूटी

बहुत कम हिन्दू जानते हैं महाभारत के योद्धाओं के ये 7 गुप्त रहस्य

बार-बार पेशाब आने के 5 कारण और उपाय

सम्बंधित जानकारी

आपत्तिजनक कंटेंट को यूजर्स के रिपोर्ट करने से पहले ही हटाने पर काम कर रहा है फेसबुक

सावधान, उत्तर कोरिया ने किया नए हाई-टेक हथियार का परीक्षण

मुसीबत में फंस सकते हैं बल्क में साड़ी, कपड़े खरीदने और बेचने वाले

Intelligence Bureau में नौकरी करना चाहते हैं तो जल्दी करें, 1000 से ज्यादा पद

स्मार्ट फोन की बैटरी बचाती है यह तरकीब, गूगल ने बताई

सीरिया में 30 बच्चों की मौत, नहीं टला युद्ध का खतरा, संयुक्‍त राष्‍ट्र ने जताया शोक

नीमच में 23 प्रत्याशियों की किस्मत दांव पर, जावद में त्रिकोणीय संघर्ष के आसार

राजस्थान में एक भी मुस्लिम को भाजपा का टिकट नहीं, कांग्रेस ने 9 उम्‍मीदवारों पर लगाया दांव

मध्यप्रदेश में भाजपा के चुनावी घोषणा पत्र की प्रमुख बातें...

दिल्ली से खाली हाथ लौटे उपेंद्र, फिर नहीं हुई शाह से मुलाकात

अगला लेख