केरल में बाढ़ : भगवान के देश में 'इन्द्र का कोप', भारतीय सेना ने देवदूत बनकर बचाई लोगों की जान...

शनिवार, 18 अगस्त 2018 (13:09 IST)
केरल में बाढ़ ने भारी तबाही मचाई है। केरल में हर जगह पानी ही पानी नजर आ रहा है। बाढ़ से कई इलाकों में हाहाकार मचा हुआ है। बाढ़ की यह विभीषिका अब तक 324 लोगों को लील चुकी है। बारिश, बाढ़ से प्रभावित केरल में भारतीय सेना के जवान मुस्तैदी से डटे हैं और लोगों को इस बड़ी विपदा से बाहर निकाल रहे हैं।


भारतीय सेना के तीनों अंग बाढ़ में फंसे लोगों की हरसंभव मदद कर रहे हैं। भारतीय सेना के तीनों अंगों के साथ ही एनडीआरएफ की टीम भी राहत के कार्यों में जुटी हुई है। एयरफ़ोर्स के 22 एयरक्राफ़्ट रेस्क्यू ऑपरेशन में लगे हैं। सेना बोट के ज़रिए लोगों को निकाल रही है।

एनडीआरएफ की 39 टीमें पहले से ही राहत-बचाव में जुटी हैं। कोस्टगार्ड के तीन जहाज़ भी ऑपरेशन में जुटे हैं। केरल के बाढ़ से प्रभावित एक गांव में आईटीबीपी के जवानों ने 500 लोगों की जान बचाई। भारतीय नौसेना ने बाढ़ में फंसी एक गर्भवती महिला को सकुशल एयरलिफ्‍ट करवाया।

वॉटर बैग के लीक होने के बाद इस महिला को बचाने के लिए नेवी हेलीकॉप्टर से उसे एयरलिफ्ट किया गया। रेस्क्यू के बाद गर्भवती महिला को अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां 25 साल की महिला ने एक बच्चे को जन्म दिया है। सेना के तीनों अंग इस भारी विपदा में डटे हुए हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने बाढ़ से तबाह केरल के लिए 500 करोड़ रुपए की आर्थिक मदद की घोषणा की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोच्चि में अधिकारियों के साथ बैठक कर स्थिति का जायजा लिया और फिर केरल के बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई दौरा किया। गंभीर रूप से घायलों को 50 हजार रुपए के मुआवजे की घोषणा की गई है। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING