नरेन्द्र मोदी ने कहा- अपरिपक्व विपक्ष ने हमें फायदा पहुंचाया

मंगलवार, 31 जुलाई 2018 (17:42 IST)
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लोकसभा में उनकी सरकार के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को विपक्ष की 'अपरिपक्वता' करार देते हुए मंगलवार को कहा कि सरकार ने इसका व्यापक उपयोग करके साढ़े चार साल की उपलब्धियों को देश के कोने-कोने तक पहुंचा दिया है।
 
मोदी ने संसद के पुस्तकालय भवन में जीएमसी बालयोगी सभागार में भाजपा संसदीय दल की बैठक में ये उद्गार व्यक्त किए। भाजपा संसदीय दल ने अविश्वास प्रस्ताव पर भारी बहुमत से जीत के लिए मोदी का अभिनंदन किया। 
पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने प्रधानमंत्री को माला पहनाई और लड्डू खिलाया।

मोदी ने कहा कि अभिनंदन उनका ही नहीं सभी सांसदों का किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि कोई अपरिपक्व व्यक्ति या पार्टी ही ऐसा करेगी कि वह ऐसी सरकार के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव लाए जिसके पास ना तो संख्या की कमी है और ना ही उसके खिलाफ कोई माहौल है। उन्होंने कहा कि परिपक्व पार्टियां ऐसी गलतियां नहीं करतीं हैं।
प्रधानमंत्री ने कहा कि राजनीतिक परिपक्वता और विचारों से विहीन पार्टी के इस कदम ने सरकार को उसकी सफलताएं और उपलब्धियों को जनता को बताने का मौका दिया। हमारा संदेश और हमारी सफलता की गाथा सबसे निचली पायदान के लोगों तक पहुंच गई है। 
 
उन्होंने हाल में अफ्रीका की यात्रा का उल्लेख करते हुए कहा कि युगांडा में प्रवासी भारतीय समुदाय से संवाद के दौरान उन लोगों ने बताया कि संसद में अविश्वास प्रस्ताव पर बहस को उन्होंने भी देखा और सुना था।
 
भाजपा अध्यक्ष शाह ने कहा कि अविश्वास प्रस्ताव पर जिन्होंने सरकार का साथ दिया, वे आभार के पात्र हैं लेकिन उनको 'डबल बधाई' जो अविश्वास प्रस्ताव लाए। उन्हीं की वजह से सरकार को साढ़े चार की उपलब्धियों को देश के कोने-कोने तक पहुंचाने का मौका मिला। भाजपा अध्यक्ष ने सांसदों का आह्वान किया कि वे इस संदेश को अपने अपने क्षेत्रों में जनता तक पहुंचाएं।
 
संसदीय दल की बैठक को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग, जहाजरानी, जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी ने भी संबोधित किया। गडकरी ने रेलवे, सड़क, जलमार्ग आदि परिवहन क्षेत्र में विकास की जानकारी दी और कहा कि तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) जानबूझ कर प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा की छवि को धूमिल करने के उद्देश्य से अविश्वास प्रस्ताव लाई थी। उन्होंने कहा कि वह खुद पोलावरम परियोजना स्थल का चार बार दौरा कर चुके हैं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING