भाजपा का पलटवार, क्या किंगफिशर गांधी परिवार की संपत्ति थी

गुरुवार, 13 सितम्बर 2018 (17:11 IST)
नई दिल्ली। भाजपा ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर आरोप लगाया कि मनमोहनसिंह सरकार के समय किंगफिशर एयरलाइंस को जिस तरह से तमाम नाजायज सहूलियतें दीं गईं, उससे लगता है कि किंगफिशर एयरलाइंस दरअसल गांधी परिवार की कंपनी थी। माल्या को एक प्रॉक्सी के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा था।
 
भाजपा प्रवक्ता डॉ. संबित पात्रा ने कहा कि गांधी किंगफिशर एयरलाइंस के मालिक विजय माल्या को लेकर बैकफुट पर हैं। ऐसा प्रतीत होता है कि एयरलाइंस गांधी परिवार की ही थी, जिसे माल्या के प्रॉक्सी के माध्यम से चलाया जाता था। उन्होंने कहा कि गांधी परिवार हमेशा किंगफिशर एयरलाइंस में यात्रा करता था और उनकी सीटों को मुफ्त में ही बिजनेस क्लास में परिवर्तित किया जाता था।
 
डॉ. पात्रा ने कई दस्तावेज पेश किए और दावा किया कि भारतीय रिजर्व बैंक और भारतीय स्टेट बैंक के बीच पत्राचार से साबित हो गया है कि सभी नियमों को दरकिनार करके माल्या के लिए बैंकों की तिजोरियां खोल दीं गई थीं।
 
उन्होंने कहा कि लोन रिस्ट्रक्चरिंग के नाम पर उनके डूबे हुए कर्ज़ को छिपाया गया। उन्होंने आरोप लगाया कि किंगफिशर के मालिक प्रधानमंत्री कार्यालय एवं वित्त मंत्रालय में बैठकर बैंकों पर ऋण देने के लिए दबाव डलवाने में कामयाब रहे।
 
उन्होंने कहा कि गांधी को बताना चाहिए कि आखिर किंगफिशर एयरलाइंस से उनका क्या रिश्ता रहा है। आखिर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह उनकी किस प्रकार से मदद करते रहे। प्रधानमंत्री के सचिव टीकेए नायर दौड़-दौड़ कर उनकी मदद करते रहे। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING