सुरक्षित है आपके आधार का डेटा, यूआईडीएआई ने दिलाया भरोसा

सोमवार, 30 जुलाई 2018 (09:02 IST)
नई दिल्ली। भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने ट्राई के अध्यक्ष रामसेवक शर्मा की व्यक्तिगत जानकारी आधार संख्या से हैक करने के दावों को खारिज करते हुए कहा कि आधार डाटा पूरी तरह  सुरक्षित है।

 
प्राधिकरण ने एक वक्तव्य जारी कर कहा है कि टि्वटर पर कुछ तत्वों और मीडिया के एक वर्ग ने शर्मा की आधार संख्या के जरिए उनकी व्यक्तिगत जानकारी हासिल करने का दावा किया है जो गलत है। कुछ भटके हुए तत्व लोगों में आधार संख्या को लेकर दुष्प्रचार फैलाना चाहते हैं और प्राधिकरण इन कोशिशों की कड़ी निंदा करता है। प्राधिकरण का कहना है कि यूआईडीएआई ने बडी मेहनत से डिजिटल विश्वसनीयता हासिल की है। प्राधिकरण ने समय-समय पर अपनी विश्वसनीयता का प्रमाण दिया है।

 
प्राधिकरण ने कहा है कि शर्मा लोकसेवक हैं और उनके बारे में गूगल जैसी वेबसाइट से आसानी से जानकारी  हासिल की जा सकती है। वह जोर देकर कहता है कि शर्मा के बारे में टि्वटर पर जो भी जानकारी दी गई है वह आधार डाटाबेस या प्राधिकरण के सर्वर से लीक नहीं की गई।

 
उसका कहना है कि दरअसल शर्मा के बारे में जो जानकारी हैक करने के दावे के साथ दी जा रही है जैसे उनका पता, जन्म तिथि, फोटो, फोन ऩ और ई-मेल ये पहले से ही सार्वजनिक हैं। प्राधिकरण ने लोगों से अपील की है कि तथाकथित हैकरों का दावा गलत है और इस पर विश्वास नहीं किया जाना चाहिए।

  
प्राधिकरण ने कहा है कि आधार डाटाबेस पूरी तरह सुरक्षित है और तथाकथित हैकरों का दावा सस्ती लोकप्रियता हासिल करने का हथकंडा है। हैकरों ने अलग-अलग जगहों से शर्मा के बारे में जानकारी एकत्र उसे ट्विटर पर एक जगह डाल दिया है।

शर्मा के बारे में हासिल की गई जानकारी बिना आधार संख्या के भी विभिन्न सर्च  इंजन से हासिल की जा सकती है। प्राधिकरण ने कहा है कि यह उभरती डिजिटल दुनिया से जुडी चुनौती है और न्यायमूर्ति श्रीकृष्णा समिति की  रिपोर्ट में इसके समाधान से जुडी सिफारिशें की गई हैं।
उल्लेखनीय है कि शर्मा ने शनिवार को टि्वटर पर यह कहते हुए अपनी आधार संख्या सार्वजनिक की थी। कोई इसके आधार पर उनसे जुडी जानकारी लीक कर के दिखाए। इसके बाद कई लोगों ने टि्वटर पर उनके बारे में  व्यक्तिगत जानकारी साझा करते हुए दावा किया था कि उन्होंने यह जानकारी आधार डाटाबेस से हैक की है।


हैकर्स ने  ट्राई चीफ के खाते में डाला था एक रुपया : खबरों के मुताबिक एथिकल हैकर्स ने ट्राई चीफ आरएस शर्मा की बैंक डिटेल्स होने का दावा किया था। हैकर्स ने ट्विटर के जरिए यह बात कही थी। यही नहीं यूजर्स ने शर्मा को आधार युक्त पेमेंट सर्विस एप्स जैसे भीम और पेटीम के जरिए शर्मा को 1 रुपए भेजे जाने के स्क्रीनशॉट पोस्ट किए हैं। यही नहीं, शर्मा के खाते में पैसे जमा किए जाने की ट्रांजेक्शन आईडी भी पोस्ट की गई है। शर्मा ने शनिवार को अपना आधार नंबर 7621 7768 2740 पोस्ट किया था और आधार की आलोचना करने वाले लोगों को चुनौती देते हुए कहा था कि यदि संभव होते वे उन्हें नुकसान पहुंचाकर दिखाएं। (एजेंसियां)

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING