मातृ दिवस

कैसे कहूँ कि माँ तेरी याद नहीं आती