14 जनवरी को मकर संक्रांति, क्या जीवन में लाएगी शांति, पढ़ें 12 राशियां

ग्रहों के राजा सूर्य के गोचरवश राशि परिवर्तन करने अर्थात् एक राशि से दूसरी राशि में जाने को संक्रांति कहा जाता है। इसी क्रम में जब सूर्य गोचरवश अपनी राशि परिवर्तन कर मकर राशि में प्रवेश करते हैं तो इसे मकर संक्रांति के नाम से जाना जाता है। 
 
सूर्य एक राशि में 1 माह तक रहते हैं, अत: संक्रांति तो प्रतिमाह आती है लेकिन मकर राशि में सूर्य का गोचर 1 वर्ष के अन्तराल से होता है इसलिए मकर संक्रांति का पर्व प्रतिवर्ष पौष मास में आता है। वर्ष 2018, विक्रम संवत् 2074 में सूर्य 14 जनवरी की रात्रि 8 बजकर 8 मिनट पर मकर राशि में प्रवेश करेंगे। 
 
अत: मकर संक्रांति का पर्व 14 जनवरी 2018 को मनेगा। इसका पुण्यकाल 15 जनवरी 2018 को रहेगा। मकर संक्रांति का विशेष पुण्यकाल 14 जनवरी 2018 को रात्रि 8 बजकर 8 मिनिट से 15 जनवरी 2018 को दिन के 12 बजे तक रहेगा। वर्ष 2018, विक्रम संवत् 2074 में संक्रांति का वाहन महिष एवं उपवाहन ऊंट रहेगा। इस वर्ष संक्रांति काले वस्त्र एवं मृगचर्म की कंचुकी धारण किए, नीले आक के फ़ूलों की माला पहने, नीलमणि के आभूषण धारण किए, हाथ में तोमर आयुध लिए, दही का भक्षण करती हुई दक्षिण दिशा की ओर जाती हुई रहेगी। 
 
संक्रांति के पुण्यकाल में पवित्र नदियों में स्नान कर तिल व तिल से बने पदार्थों का दान करना श्रेयस्कर रहेगा। आइए जानते हैं कि मकर संक्रांति का समस्त 12 राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा।
 
1. मेष- मेष राशि वाले जातकों को सूर्य के गोचर अनुसार व्यापार में लाभ प्राप्त होगा। कार्यों में सफ़लता प्राप्त होगी। धन लाभ होगा। मान-प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। 
 
2. वृष-वृष राशि वाले जातकों को सूर्य के गोचर अनुसार धन हानि की संभावना है। झूठे आरोप के कारण प्रतिष्ठा धूमिल होगी। कार्यों में असफ़लता प्राप्त होगी। रोग के कारण कष्ट होगा। पारिवारिक विवाद के कारण अशान्ति का वातावरण रहेगा। 
 
3. मिथुन-मिथुन राशि वाले जातकों को सूर्य के गोचर अनुसार विवाद के कारण परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। कोर्ट-कचहरी व मुकदमें में असफ़लता के योग हैं। धन का अपव्यय होगा। उच्च रक्तचाप के कारण कष्ट होगा। मान-प्रतिष्ठा में कमी आएगी। 
 
4. कर्क- इस माह कर्क राशि वाले जातकों को सूर्य के गोचर अनुसार दाम्पत्य सुख में हानि होगी। कार्यों में असफ़लता प्राप्त होगी। धन हानि एवं मानहानि होगी। सिर में पीड़ा के साथ-साथ शारीरिक कष्ट की संभावनाएं हैं।
 
5. सिंह- इस माह सिंह राशि वाले जातकों को सूर्य के गोचर अनुसार कार्यों में सफ़लता प्राप्त होगी। शत्रुओं पर विजय प्राप्त होगी। रोगों से मुक्ति मिलेगी। राज्य से लाभ प्राप्त होगा। प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी।
 
6. कन्या-इस माह कन्या राशि वाले जातकों को सूर्य के गोचर अनुसार मानसिक पीड़ा होगी। राज्याधिकारियों से विवाद होगा। सन्तान को कष्ट की संभावना है। धनहानि होगी। यात्रा में दुर्घटना की संभावना है। 
 
7. तुला- इस माह तुला राशि वाले जातकों को सूर्य के गोचर अनुसार पारिवारिक विवाद के कारण कष्ट होगा। धनहानि व मानहानि होगी। यात्रा में कष्ट होगा। जमीन-जायदाद संबंधी मामलों में असफ़लता प्राप्त होगी। मानसिक अशांति के कारण कष्ट रहेगा। 
 
8. वृश्चिक- इस माह वृश्चिक राशि वाले जातकों को सूर्य के गोचर अनुसार मित्रों से लाभ होगा। धन लाभ होगा। राज्याधिकारियों से अनुकूलता प्राप्त होगी। पदोन्नति की संभावना है। उच्च पद की प्राप्ति होगी। शत्रुओं पर विजय प्राप्त होगी। प्रत्येक कार्य में सफ़लता मिलेगी। मान-प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी।
 
9. धनु- इस माह धनु राशि वाले जातकों को सूर्य के गोचर अनुसार व्यापार व धन सम्पत्ति में हानि का योग है। मित्रों व परिवारजनों से विवाद की सम्भावना है। सिर व आंखों में पीड़ा के कारण परेशानी रहेगी।  
 
10.मकर- इस माह मकर राशि वाले जातकों को सूर्य के गोचर अनुसार धन हानि के योग हैं। सम्मान व प्रतिष्ठा में कमी होगी। 
 
11. कुंभ- इस माह कुंभ राशि वाले जातकों को सूर्य के गोचर अनुसार स्थान परिवर्तन का योग बन रहा है। कार्यक्षेत्र में परेशानियां रहेंगी। गुप्त शत्रुओं के कारण हानि का योग है। 
 
12.मीन- इस माह मीन राशि वाले जातकों को सूर्य के गोचर अनुसार धन प्राप्ति का योग है। पदोन्नति के अवसर हैं। मान-सम्मान व प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। 
 
-ज्योतिर्विद् पं. हेमन्त रिछारिया
सम्पर्क: astropoint_hbd@yahoo.com
 

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING