मध्यप्रदेश के पश्चिमी हिस्से में बारिश के आसार

शनिवार, 13 जनवरी 2018 (20:11 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश के पश्चिमी हिस्से में आने वाले एक दर्जन से अधिक स्थानों पर अगले 24 घंटों के दौरान कहीं-कहीं बारिश होने की संभावना है। राज्य के शेष स्थानों पर मौसम शुष्क बना रहेगा। प्रदेश में कई दिनों से अधिकांश स्थानों पर कड़ाके की ठंड पड़ रही है।


भोपाल स्थित मौसम विज्ञान केन्द्र के अनुसार, प्रदेश के पश्चिमी हिस्से में आने वाले इंदौर और उज्जैन के अलावा भोपाल और होशंगाबाद में अगले 24 घंटों के दौरान कहीं-कहीं बारिश हो सकती है। राज्य के शेष स्थानों पर मौसम शुष्क बना रहेगा।

प्रदेश में कई दिनों से अधिकांश स्थानों पर कड़ाके की ठंड पड़ रही है। खासकर राज्य के उत्तर-पूर्वी हिस्से में ठंड का प्रभाव दूसरे स्थानों की अपेक्षा कुछ ज्यादा है। इस हिस्से में पिछले दिनों शीतलहर और पाला के साथ कोहरे का प्रभाव रहा। इन स्थानों पर कोहरे के छंटते ही ठंड ने असर दिखाना चालू कर दिया है।

शाम के ढलते ही सड़कें सूनी हो जाती हैं। राज्य के शेष स्थानों पर सुबह और शाम के ढलने के बाद ठंड का असर दिखाई देता है। यह स्थिति पिछले कई दिनों से चल रही है। राज्य के वनांचल और मैदानी क्षेत्र में आने वाले अनेक स्थानों पर ठंड का कहर सबसे ज्यादा पड़ा है।

पिछले दिनों मंडला, पचमढ़ी, बैतूल, रीवा, सतना और पचमढ़ी इत्यादि स्थानों पर रात्रि पहर का न्यूनतम तापमान लुढ़ककर 3 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था, लेकिन अब यहां 5 से 6 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। मौसम विज्ञान विभाग ने आशंका जाहिर की है कि राज्यभर में फिलहाल मौसम के रुख में कम से कम दो दिन तक बदलाव होने की उम्मीद नहीं है।

मौसम का मिजाज दो दिन तक ऐसा ही बना रह सकता है। कई स्थानों पर तापमान में मामूली रूप से घट-बढ़ हो सकता है। बीते 24 घंटों के दौरान राज्य के मंडला, रीवा और नौगांव सबसे ठंडा स्थान रहा। इन तीनों स्थानों पर न्यूनतम तापमान 6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

प्रदेश की राजधानी भोपाल में आज सुबह हल्का कोहरा दिखाई दिया। सूरज के उदय होने के बाद कोहरा जरूर छंटा, लेकिन बीच-बीच में बादलों की लुकाछुपी होती रही। यह सिलसिला शाम के पहर तक बना रहा। (वार्ता)

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!
LOADING