खजुराहो में बूंद-बूंद पानी को तरसते लोग...

गर्मी शुरू होते ही जलसंकट भी शुरू हो गया है। छतरपुर जिले में लोग पीने के पानी के लिए जूझ रहे हैं। खजुराहो रेलवे स्टेशन का तो आलम यह है कि यहां बूंद-बूंद पानी के लिए यात्रियों को तरसना पड़ रहा है। विश्व पर्यटन स्थल खजुराहो में एकमात्र रेलवे स्टेशन के हाल बेहाल हैं।


यहां पिछले एक सप्ताह से पेयजल की आपूर्ति नहीं की जा रही। स्टेशन की टंकियों में पानी न होने के कारण सभी नल सूखे पड़े हैं, जिससे यात्री बूंद-बूंद पानी को तरसते फिर रहे हैं। आलम यह है कि लोगों को ढाबों से खुली बोतलों का पानी मुंहमांगी कीमतों में खरीदना पड़ रहा है।

आरोप है कि ठेकेदार और वेंडर की सेटिंग से रेलवे स्टेशन पर पानी की सप्लाई बंद कराई गई है, ताकि पानी से पैसा कमाकर बंदरबांट की जा सके। सभी जानते हैं कि खजुराहो रेलवे स्टेशन पर देशी-विदेशी पर्यटकों का आना-जाना होता है, बाबजूद इसके पेयजल की स्थिति बहुत खराब है। यहां तक कि पर्यटकों को शौचालय के लिए भी पानी खरीदना पड़ता है।

जानकारी के मुताबिक, स्टेशन पर पानी के स्रोत तो बहुत से हैं, लेकिन उनका उपयोग नहीं किया जा रहा। विश्व पटल पर खजुराहो की छवि बनाने में बहुत समय लगा, लेकिन वर्षों की इस छवि को बिगड़ने में पलभर का समय न लगेगा और यहां यही हो रहा है।

रेलवे प्रशासन के अधिकारी भी मामले को जानते हुए अनभिज्ञ बने हुए हैं। हालातों पर काबू और व्यवस्थाओं को सुचारु करने के लिए रेलवे और प्रशासनिक अधिकारियों सहित जिला प्रशासन को तत्काल इस ओर ध्यान देना होगा।

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
आप को जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें-निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING