मध्‍य प्रदेश की नर्मदा समेत 9 नदियों में विसर्जित होंगी अटलजी की अस्थियां

बुधवार, 22 अगस्त 2018 (12:36 IST)
भोपाल। पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी जी के अस्थि कलश लेकर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद राकेश सिंह दिल्ली से 22 अगस्त को विशेष विमान से भोपाल पहुचेंगे। स्टेट हैंगर से प्रदेश कार्यालय तक मार्ग में स्थान-स्थान पर श्रद्धासुमन अर्पित किए जाएंगे। 23 अगस्त को प्रातः 8 बजे आठ अस्थि कलश आठ प्रमुख नदियों में विसर्जन के लिए एकसाथ रवाना होंगे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद राकेश सिंह 25 अगस्त को एक अस्थि कलश नर्मदा नदी में विसर्जित करेंगे।


चंबल नदी को जाने वाली अस्थि कलश यात्रा ग्वालियर से प्रारंभ होगी। प्रदेश की जिन नदियों में पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटलजी की अस्थियों को विसर्जित किया जाएगा, उनमें नर्मदा, क्षिप्रा, ताप्ती, चम्बल, सोन, बेतवा, पार्वती, सिंध, पेंच और केन नदियां शामिल हैं। पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी का मध्यप्रदेश से गहरा नाता रहा है। प्रदेश के ग्वालियर में जन्मे अटलजी के जीवन के कई वर्ष मध्य प्रदेश में ही बीते हैं। इसी को दृष्टिगत रखते हुए प्रदेश की दस प्रमुख नदियों में उनकी अस्थियों को विसर्जित किए जाने का निर्णय लिया गया है।

अस्थि कलश यात्राओं के रूट और उनमें शामिल होने वाले प्रमुख नेताओं के नाम इस प्रकार हैं :
नर्मदा नदी, होशंगाबाद- यह यात्रा मण्डीदीप, ओबेदुल्लागंज, बुधनी होते हुए नर्मदा तट होशंगाबाद पहुंचेगी। यात्रा में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह शामिल होंगे। पार्वती नदी, चाचौड़ा- यह यात्रा बैरसिया, नरसिंहगढ़, पचोर, सारंगपुर, शाजापुर, आगर, सुसनेर, जीरापुर, खिलचीपुर, राजगढ़, ब्यावरा होते हुए चाचोड़ा पहुंचेगी। इस यात्रा में मंत्री रामपाल सिंह, प्रदेश महामंत्री व सांसद मनोहर उंटवाल, प्रदेश मंत्री पंकज जोशी शामिल होंगे। क्षिप्रा नदी, उज्जैन- यह यात्रा सीहोर, देवास, इंदौर होते हुए क्षिप्रा तट उज्जैन पहुंचेगी। यात्रा में केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत, मंत्री पारस जैन, बंशीलाल गुर्जर एवं सुदर्शन गुप्ता शामिल होंगे।

ताप्ती नदी, बुरहानपुर- यह यात्रा मण्डीदीप, ओबेदुल्लागंज, रहटी, खातेगांव, खण्डवा होते हुए बुरहानपुर पहुंचेगी। इस यात्रा में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद नंदकुमार सिंह चौहान, मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनीस, मंत्री अंतर सिंह आर्य एवं जीतू जिराती शामिल होंगे। सोन नदी, रीवा- यह यात्रा बरेली, पिपरिया, छिंदवाड़ा, सिवनी, मण्डला, डिंडोरी, उमरिया, शहडोल, सीधी होते हुए रीवा पहुंचेगी। इस यात्रा में मंत्री राजेन्द्र शुक्ला, अजयप्रताप सिंह, पुष्पेन्द्र प्रताप सिंह, शरतेन्दु तिवारी, मिथलेश प्यासी, रामलाल रौतेल, अभय बिलैया शामिल होंगे।

बेतवा नदी, ओरछा- यह यात्रा विदिशा, सागर, दमोह, छतरपुर, टीकमगढ़ होते हुए ओरछा पहुंचेगी। इस यात्रा में केन्द्रीय मंत्री वीरेंद्र कुमार, मंत्री गोपाल भार्गव, गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह, सांसद प्रहलाद पटेल, प्रदीप लारिया एवं दशरथ सिंह, ऋषि लोधी शामिल होंगे। पेंच नदी, छिंदवाड़ा- यह यात्रा सोहागपुर, पिपरिया, गाडरवाड़ा, लखनादौन, छपारा, सिवनी, छिंदवाड़ा होते हुए परासिया पहुंचेगी। इस यात्रा में मंत्री ओमप्रकाश धुर्वे, शरद जैन, प्रदेश मंत्री कन्हाईराम रघुवंशी, नरेश दिवाकर, वीरेन्द्र फौजदार शामिल होंगे। सिंध नदी, दतिया- यह यात्रा शिवपुरी, सिरसौद, करेरा, दिनारा होते हुए दतिया पहुंचेगी। इस यात्रा में मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, रुस्तम सिंह, लालसिंह आर्य, प्रदेश उपाध्यक्ष अरविन्द भदौरिया, प्रदेश महामंत्री विष्णुदत्त शर्मा शामिल होंगे।

केन नदी, पन्ना- यह यात्रा रायसेन, नरसिंहपुर, जबलपुर, कटनी होते हुए पन्ना पहुंचेगी। इस यात्रा में सांसद कैलाश सोनी, मंत्री सुरेन्द्र पटवा, सदानंद गोडबोले, शशांक श्रीवास्तव, बृजेन्द्रप्रताप सिंह शामिल होंगे। चम्बल नदी- यह यात्रा ग्वालियर से शुरू होकर चम्बल नदी तक जाएगी।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING