KL RAHUL यानी 'कमाल लाजवाब राहुल' ने अंग्रेज गोलंदाजों के छक्के छुड़ाए

इंग्लैंड की धरती पर कदम रखते ही केएल राहुल ने मंगलवार को पहले टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच में जिस धमाकेदार अंदाज में नाबाद शतकीय पारी खेली है, उसने मेजबान के लिए खतरे की घंटी बजा दी है। राहुल की 101 रन की पारी की खासियत टाइमिंग और दिशा रही। उन्होंने ताकत का ज्यादा इस्तेमाल नहीं किया और कलाई के करिश्मे से अंग्रेज गोलदांजों के छक्के छुड़ा दिए। 
 
राहुल ने तोड़ा मिथक :अकसर आईपीएल खेलने वाले क्रिकेटरों पर ये इल्जाम लगता रहा है कि वे अपनी फ्रेंचाइजी टीम के लिए जान-लड़ाकर खेलते हैं और जब देश की बात आती है तो उनका तमाम कौशल काफुर हो जाता है लेकिन कुछ सालों से इसमें बदलाव देखने को मिल रहा है, खासकर तब जबसे विराट कोहली ने टीम की बागडोर संभाली है। 
 
राहुल ने गेंदबाजों के धुर्रे बिखेरे :टीम इंडिया ने इंग्लैंड दौरे की शुरुआत खतरनाक अंदाज से की है और उस पर राहुल की लाजवाब पारी ने अंग्रेज गेंदबाजों के जिस तरह से धुर्रे बिखेरे हैं, उसे देखकर लगता है कि ये टीम जरूर कमाल करेगी। राहुल ने आईपीएल के अपने जबदस्त फॉर्म को जारी रखा। भारतीय टीम का यह बेजोड़ खिलाड़ी क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में जिस तरह अपनी छाप छोड़ता है, वो देखने लायक है।
जमकर अभ्यास भी काम न आया :मैनचेस्टर के जिस धीमे विकेट पर तीन टी-20 मैचों की सीरीज का पहला मैच खेला गया, वो काफी धीमी थी और गेंद रुककर बल्ले पर आ रही थी। अंग्रेज टीम के धुरंधरों ने इस विकेट के लिए जमकर अभ्यास किया था लेकिन वे न तो चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव की स्पिन को पढ़ पाए और न राहुल के बल्ले की धमक पर नकेल कस सके।
 
स्टेडियम में पूरे समय छाए रहे राहुल :पूरे स्टेडियम पर राहुल की छाप अंकित हो चुकी थी। बेहद शांत मन से उन्होंने खुद की और भारत की पारी संवारी वह भी तब, जबकि पहले ही ओवर की चौथी गेंद पर 4 रन पर शिखर धवन के डंडे बिखर गए थे। रोहित को साथ लेकर उन्होंने 123 रनों की अमूल्य साझेदारी करके मैच के सारे सूत्र कोहली के हाथों में सौंप दिए। 
 
राहुल का 'क्लास' देखने को मिला :54 गेंदों का सामना करके 10 चौकों और पांच छक्कों की मदद से जब उन्होंने 101 रनों की विजयी पारी खेली, तब भारत में क्रिकेटप्रेमी उनींदे होकर भारत की जीत देख रहे थे क्योंकि तब रात के करीब 1.30 बजे का वक्त हो रहा था। 120 गेंदों के इस फटाफट क्रिकेट में राहुल का 'क्लास' देखने को मिला, जिसमें उन्होंने इस फॉर्मेट के करियर का दूसरा सैकड़ा जमाया और भारत को इंग्लैंड पर 8 विकेट से जीत दिलाई। 
 
पारिवारिक पृष्ठभूमि :केएल राहुल का पूरा नाम कन्नूर लोकेश राहुल है और उनका जन्म 18 अप्रैल 1992 को कर्नाटक के बेंगलुरु शहर में हुआ। उनके पिता डॉ. केएन लोकेश सुराथकल स्थित एनआईटीके में डिपार्टमेंट ऑफ सिविल इंजीनियरिंग के हेड व प्रोफेसर हैं जबकि मां राजेश्वरी बेंगलुरु यूनिवर्सिटी में इतिहास पढ़ाती हैं। भावना नाम की एक छोटी बहन भी है उनकी।
 
आईपीएल की रिकॉर्ड पुस्तिका में दर्ज हुआ नाम :आईपीएल के 11वें संस्करण में लोकेश राहुल ने किंग्स इलेवन पंजाब के लिए जो लाजवाब पारियां खेली हैं, वो जल्दी भुलाए नहीं भूलेंगी। राहुल ने आईपीएल एक ऐसा रिकॉर्ड बना डाला, जो रिकॉर्ड पुस्तिका में दर्ज हो गया। 8 अप्रैल को मोहाली में किंग्स इलेवन पंजाब की तरफ से खेलते हुए राहुल ने दिल्ली के खिलाफ 14 गेंदों में अर्द्धशतक ठोंक डाला था, जो आज भी कायम है 
2018 में राहुल का आईपीएल सफर :आईपीएल 2018 में राहुल कुल 14 मैचों में कुल 659 रन बनाकर सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ियों की सूची में तीसरे नंबर पर रहे। उनसे आगे शीर्ष पर सनराइजर्स हैदराबाद के कप्तान केन विलियमसन (735) और दिल्ली के ऋषभ पंत (684) रहे। राहुल ने आईपीएल में 6 अर्द्धशतक लगाए। उन्होंने राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ 95, 94 और 84, कोलकाता के खिलाफ 66, 60 और बेंगलुरु के खिलाफ 47 रनों की पारी खेली। वैसे राहुल आईपीएल में कुल 53 मैचों में 1,384 रन अपने नाम के आगे लिखवा चुके हैं।
 
केएल राहुल का अंतरराष्ट्रीय करियर :केएल राहुल ने 24 टेस्ट मैचों में 1,512 रन बनाए जिसमें 4 शतक और 50 अर्द्धशतक शामिल हैं। टेस्ट में उनका उच्चतम स्कोर 199 रन का रहा है। उन्होंने 10 वन-डे मैचों में एक बार नाबाद शतक (100) जड़ा और कुल 248 रन बनाए। अंतरराष्ट्रीय टी-20 में राहुल ने 17 मैचों में 671 रन एकत्र किए, 1 शतक और 3 अर्द्धशतक के सहारे। टी-20 में उनका उच्चतम स्कोर नाबाद 110 रन रहा है।
 
2017 में लगातार अर्द्धशतक ठोंककर की थी विश्व रिकॉर्ड की बराबरी :भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज केएल राहुल ने 2017 में श्रीलंका के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच में लगातार तीसरा अर्द्धशतक लगाया और विश्व रिकॉर्ड की बराबरी की थी। यही नहीं, उन्होंने गुंडप्पा विश्वनाथ और राहुल द्रविड़ का रिकॉर्ड भी तोड़ा था। गुंडप्पा विश्वनाथ (1977-1978) और राहुल द्रविड़ (1997-1998) भी लगातार 6-6 अर्द्धशतक लगा चुके हैं।
 
अर्द्धशतकीय पारी का सिलसिला उन्होंने 2017 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बेंगलुरु टेस्ट से शुरू किया था। टेस्ट मैच में लगातार 7 अर्द्धशतक बनाने वाले वे दुनिया के 5वें बल्लेबाज बने थे। उनके अलावा एवर्टन वीक्स (वेस्टइंडीज), एंडी फ्लॉवर (जिम्बाब्वे), शिवनारायण चंद्रपॉल (वेस्टइंडीज), कुमार संगकारा (श्रीलंका) और क्रिस रोजर्स (ऑस्ट्रेलिया) भी ऐसा कर चुके हैं।
 
ये है केएल राहुल के शौक और पसंदीदा भोजन :राहुल के शौक हैं संगीत सुनना, हॉकी और टेनिस खेलना। जब भी वे क्रिकेट से फारिग होते हैं, तब अपने शौक पूरा करते नजर आते हैं। उन्हें भोजन में जापानी फूड और सी फूड डोसा बेहद पसंद है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
अपने सपनों के जीवनसंगी को ढूँढिये भारत मैट्रिमोनी पर - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन !

LOADING