कैरेबियाई खिलाड़ियों की देश की ओर से खेलने में दिलचस्पी नहीं

सोमवार, 5 नवंबर 2018 (19:39 IST)
कोलकाता। विंडीज के पूर्व कप्तान कार्ल हूपर ने कहा है कि यह शर्म की बात है कि शीर्ष कैरेबियाई खिलाड़ियों की देश की ओर से खेलने में दिलचस्पी नहीं है। क्रिस गेल, आंद्रे रसेल और सुनील नारायण जैसे खिलाड़ियों के बिना भारत आई विंडीज की विश्व टी-20 चैंपियन टीम को रविवार को यहां ईडन गार्डन्स में पहले टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में 5 विकेट से हार का सामना करना पड़ा था।
 
 
खिलाड़ी चोटों या फिर 'निजी समस्याओं' के कारण नहीं खेल रहे। इन 'निजी समस्याओं' में क्रिकेट बोर्ड के साथ लंबे समय से चले आ रहे विवाद की अहम भूमिका है। क्रिकेटर से कमेंटेटर बने हूपर ने यहां पहले टी-20 के इतर कहा कि यह स्पष्ट है कि उनकी विंडीज की ओर से खेलने में दिलचस्पी नहीं है और यह शर्मनाक है।
 
भारत के खिलाफ मैच में विंडीज की टीम में पदार्पण करने वाले 3 खिलाड़ी शामिल थे। फाबियान एलेन ने भी इस मैच से टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया और सर्वाधिक 27 रन बनाए। विंडीज की टीम हालांकि 8 विकेट पर 109 रन ही बना सकी।
 
युवा टीम का समर्थन करते हुए 51 साल के हूपर ने कहा कि अगर हमारे सीनियर खिलाड़ी खेलते तो यह भारत के लिए आसान नहीं होता। यह युवा टीम है और उन्हें समय की जरूरत है। इस साल विंडीज का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा है और टीम 8 मैचों में से सिर्फ 2 में ही जीत दर्ज कर पाई है। जुलाई-अगस्त में बांग्लादेश के खिलाफ अमेरिका में हुई पिछली श्रृंखला में टीम को 1-2 से हार का सामना करना पड़ा था। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING