रुपए की गिरावट कंपनियों की वित्तीय स्थिति के लिए प्रतिकूल पर असर सीमित रहेगा : मूडीज

Webdunia
सोमवार, 10 सितम्बर 2018 (17:28 IST)
नई दिल्ली। डॉलर के मुकाबले रुपए में लगातार गिरावट कंपनियों की वित्तीय साख की दृष्टि से प्रतिकूल है, जो कर्ज तो डॉलर में लेती है, पर जिनकी कमाई रुपए में है। मूडीज इन्वेस्टर सर्विस ने सोमवार को यह बात कही। वर्ष 2018 में रुपया 13 प्रतिशत टूटकर 72.50 प्रति डॉलर से भी नीचे चला गया है।
 
 
मूडीज ने कहा कि वह जिन कंपनियों की वित्तीय साख का निर्धारण करती है उनमें से अधिकतर विदेशी विनिमय दर में उतार-चढ़ाव के जोखिम से अच्छी तरह संरक्षित है। इनमें से कुछ की कमाई डॉलर में है तो कुछ ने इससे बचने के लिए भविष्य के वायदा और विकल्प के सौदों की ओट ले रखी है।
 
मूडीज भारत में उच्च निवेश श्रेणी की 24 कंपनियों की रेटिंग करती है। इनमें से 12 अपना ज्यादातर राजस्व डॉलर में अर्जित करती हैं। इन 24 कंपनियों में आईटी, तेल एवं गैस, रसायन, वाहन, जिंस, इस्पात और रीयल एस्टेट क्षेत्र की कंपनियां शामिल हैं। मूडीज ने कहा है कि रुपए में लगातार गिरावट का विशेषरूप से उन कंपनियों की वित्तीय स्थिति प्रभावित होगी जिनका ऋणभार डॉलर ऋण में है, पर कमाई रुपए में है। (भाषा)

LIC ने जारी की एडवाइजरी, इन सात बातों का रखें ध्यान, कभी नहीं होंगे फ्रॉड के शिकार

एक प्रेम कहानी का दुखद अंत, जन्म से पहले ही एक मासूम के सिर से उठा पिता का साया

बड़ी खबर, 1136 खाली पद भरेगा केंद्र, 30 सितंबर तक करें आवेदन

बत्ती गुल मीटर चालू : फिल्म समीक्षा

कुलदेवी और देवताओं के बारे में चौंकाने वाली जानकारी

सम्बंधित जानकारी

खुशखबर, नौकरी जाने पर मिलेगा पैसा, मोदी सरकार की नई योजना

जेट एयरवेज में नहीं मिलेगा मुफ्त भोजन

जान लीजिए वह 16 कारण जिनसे लगता है पितृ दोष...

स्ट्रॉबेरी में मिल रही है सुई, कौन लाया, कहां से आई

Whatsapp पर आ रहे हैं कमाल के नए फीचर्स, तनाव होगा कम

अमित शाह की संगठन को दोटूक, 65 से कम सीटें जीतीं तो जीत नहीं

मोदी ने राफेल सौदे में देश को दिया धोखा, चहेते उद्योगपति को पहुंचाया फायदा : राहुल

राफेल विमान सौदे का ओलांद ने किया पर्दाफाश, कांग्रेस का प्रधानमंत्री पर सबसे बड़ा हमला

भाजपा की छत्तीसगढ़ सहित तीन राज्यों में सत्ता में वापसी तय : शाह

हमने जूते चप्पल पहनाए तो कांग्रेस के पेट में मरोड़ हो गई : शिवराज

अगला लेख