पुराने कप्तान गंभीर कोलकाता को सिखाएंगे 'ककहरा'

रविवार, 15 अप्रैल 2018 (21:34 IST)
कोलकाता। कोलकाता नाइटराइडर्स आईपीएल में अच्छी शुरुआत के बाद पिछले दोनों मैच एक के बाद एक हारकर पटरी से उतर चुकी है और सोमवार को ईडन गार्डन मैदान पर उसका सामना पुराने कप्तान गौतम गंभीर की अगुवाई वाली दिल्ली डेयरडेविल्स से होगा जिसके खिलाफ उसे दमखम के साथ अतिरिक्त सतर्कता भी बरतनी होगी।

कार्तिक की कप्तानी में कोलकाता ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू को चार विकेट से हराकर अच्छी शुरुआत की थी लेकिन फिर वह अगले मैच में चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ 202 रन के बड़े स्कोर का भी बचाव नहीं कर सकी और आखिरी मैच में उसे सनराइजर्स हैदराबाद से पांच विकेट से हार झेलनी पड़ गई।

बॉलीवुड अभिनेता शाहरूख खान के मालिकाना हक वाली कोलकाता ने शनिवार को वर्षा बाधित मैच में भी काफी गलतियां कीं और 20 ओवर के मैच में उसके बल्लेबाज 138 रन ही बना सके और हैदराबाद ने छह गेंद शेष रहते पांच विकेट से अपना मैच जीत लिया। हैदराबाद इस जीत के बाद अपने सभी तीनों मैच जीतकर आठ टीमों की तालिका में शीर्ष पर पहुंच गई है।

दूसरी ओर कोलकाता को दो बार 2012 और 2014 में आईपीएल चैंपियन बना चुके गंभीर 11वें संस्करण में दिल्ली का नेतृत्व कर रहे हैं और अपनी पुरानी टीम की कमजोरियों और ताकत से अच्छी तरह वाकिफ हैं। लंबे समय तक केकेआर का नेतृत्व कर चुके गंभीर के लिए अब दिल्ली का भाग्य बदलने की चुनौती है जो पिछले 10 वर्षों में टूर्नामेंट की फिसड्डी टीम रही है।

मुंबई इंडियन्स के खिलाफ अपने पिछले मैच में लेकिन दिल्ली ने जिस तरह 194 रन के बड़े स्कोर का बचाव किया वह काबिलेतारीफ था और निश्चित ही टीम का इससे आत्मविश्वास बढ़ा है। दिल्ली के गंभीर के लिए यह जीत सही समय मिली है और उनके पुराने ईडन गार्डन मैदान पर अच्छा प्रदर्शन करने में उनके लिए मददगार साबित हो सकती है। वहीं पहली बार आईपीएल में कप्तानी संभाल रहे कार्तिक के लिए खुद को साबित करना अभी तक चुनौती बना हुआ है जबकि गंभीर के पास लंबे समय तक केकेआर की कप्तानी का और उसके युवा तथा गैर अनुभवी खिलाड़ियों से अच्छा प्रदर्शन करवाने का बढ़िया अनुभव है।

दिल्ली के लिए पिछले मैच में जेसन रॉय ने नाबाद 91 रन की बेहतरीन पारी से टीम को जीत दिलाई थी और एक बार फिर उनपर सभी की निगाहें रहेंगी। ओपनिंग बल्लेबाज ने 53 गेंदों में छह चौके और छह छक्के उड़ाते हुए अपनी टीम को रोमांचक जीत दिलाई थी। इसके अलावा टीम के पास अनुभवी कप्तान गंभीर, कॉलिन मुनरो, ग्लेन मैक्सवेल, क्रिस मौरिस, श्रेयस अय्यर और रिषभ पंत के रूप में बेहतरीन बल्लेबाजी लाइनअप है। हालांकि दिल्ली को अपनी गेंदबाजी में काफी सुधार की जरूरत है क्योंकि मुंबई के खिलाफ उसके गेंदबाज काफी महंगे साबित हुए थे।

तेज गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट चार ओवर में 39 रन पर सबसे महंगे रहे थे लेकिन उनकी मदद के लिए कोई और खास तेज गेंदबाज उसके पास नहीं है। कैगिसो रबाडाके चोटिल होने के कारण उसके बल्लेबाजों पर ज्यादा जिम्मेदारी है। लेकिन मोहम्मद शमी की मौजूदगी से उसे फायदा मिला है। घरेलू विवाद और दुर्घटना का शिकार हुए तेज गेंदबाज शमी पर भी केकेआर के बल्लेबाजों को रोकने की जिम्मेदारी होगी। दूसरी और कोलकाता के पास कार्तिक, रॉबिन उथप्पा, क्रिस लिन, ऑलराउंडर आंद्रे रसेल जैसे अच्छे खिलाड़ी और सुनील नारायण, कुलदीप यादव और पीयुष चावला जैसे अच्छे गेंदबाज हैं। लेकिन टीम को बेहतर रणनीति के साथ उतरना होगा। (वार्ता)

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
अपने सपनों के जीवनसंगी को ढूँढिये भारत मैट्रिमोनी पर - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन !

LOADING