पाकिस्तान में चुनाव नतीजों में देरी पर बवाल, चुनाव आयोग को देनी पड़ी सफाई

गुरुवार, 26 जुलाई 2018 (09:34 IST)
इस्लामाबाद। पाकिस्तान में चुनाव आयोग के सचिव बाबर याकूब ने बुधवार को कहा कि चुनाव नतीजों में देरी के पीछे कोई 'षड्यंत्र' नहीं है। उन्होंने कहा कि ऐसा तकनीकी विफलता की वजह से हो सकता है, क्योंकि देश में नई परिणाम प्रेषक प्रणाली प्रारंभ की गई है। वहीं दूसरी ओर पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पार्टी पीएमएल-एन ने बुधवार को शुरू हुई मतगणना की प्रक्रिया में धांधली का आरोप लगाते हुए चुनाव के नतीजों को खारिज कर दिया है।


पाकिस्तान के डॉन अखबार के अनुसार, याकूब ने बताया कि एक ही समय में हजारों मतदान अधिकारियों के अत्यधिक उपयोग के कारण सिस्टम खराब हो गया। उन्होंने कहा, कोई दबाव और कोई षड्यंत्र नहीं है। हमने किसी भी परिणाम को नहीं रोका है। परिणाम प्रेषक प्रणाली में गड़बड़ी की वजह से देरी हुई है।

उन्होंने कहा कि जिस सिस्टम का प्रयोग पहली बार हो रहा है उसके बड़े पैमाने पर उपयोग करने को लेकर परीक्षण नहीं किया गया था। उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान में चुनाव आयोग ने अभी तक किसी भी सीट के नतीजों की आधिकारिक घोषणा नहीं की है।

पीएमएल-एन ने लगाया मतगणना में धांधली का आरोप : पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) ने बुधवार को शुरू हुई मतगणना की प्रक्रिया में धांधली का आरोप लगाते हुए  नेशनल असेंबली चुनाव के नतीजों को खारिज कर दिया है।

पीएमएल-एन ने देश की सेना पर पूर्व क्रिकेटर एवं पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के नेता इमरान खान को पर्दे के पीछे से समर्थन करने का आरोप लगाया। नवाज शरीफ के भाई एवं पीएमएल-एन नेता शहबाज शरीफ ने गुरुवार को तड़के मतगणना के रुझानों में पार्टी को पिछड़ते देख वोटों की गिनती की प्रक्रिया को खारिज कर दिया।
उन्होंने कहा, हम इस नतीजे को खारिज करते हैं। उल्लेखनीय है कि नवाज शरीफ भ्रष्टाचार के मामले में अपनी बेटी मरियम नवाज तथा दामाद कैप्टन (सेवानिवृत्त) मोहम्मद सफदर अवान के साथ जेल में बंद हैं। (वार्ता)

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING