असांजे को जल्द ही ब्रिटेन में इक्वाडोर दूतावास से निकाला जा सकता है

शनिवार, 28 जुलाई 2018 (22:00 IST)
लंदन। ब्रिटेन में इक्वाडोर दूतावास में शरण लिए हुए विकीलीक्स के संस्थापक जुलियन असांजे को जल्द ही वहां से निकाला जा सकता है। इक्वाडोर के राष्ट्रपति लेनिन मोरेनो ने हाल में कहा था कि असांजे को वहां से निकल जाना चाहिए।
 
 
47 वर्षीय ऑस्ट्रेलियाई नागरिक असांजे 2012 से मध्य लंदन के नाइट्सब्रिज इलाके में स्थित इक्वाडोर के दूतावास में रह रहे हैं, जहां उन्हें राजनीतिक शरण मिली हुई है। 'द टाइम्स' अखबार की खबर के अनुसार मामले से जुड़े एक सूत्र ने कहा कि मुझे आशंका है कि उन्हें (असांजे) मिली शरण छीन सकती है। इसका मतलब है कि उन्हें दूतावास से निकाल दिया जाएगा। यह कब होगा, यह बताना असंभव है।
 
इक्वाडोर के राष्ट्रपति ने हाल में स्पेन में कहा था कि किसी को भी बहुत लंबे समय के लिए शरण में बने नहीं रहना चाहिए। उन्होंने इस हफ्ते की शुरुआत में मैड्रिड में एक कार्यक्रम में कहा था कि मैं कभी भी असांजे की गतिविधि के पक्ष में नहीं रहा। मोरेनो ने कहा था कि वे लोगों के निजी ई-मेल में दखल देने के भी पक्ष में नहीं हैं और ऐसा सही एवं कानूनी तरीकों के जरिए किया जा सकता है।
 
असांजे के एक सहयोगी ने राजनीतिक शरण वापस लेने के फैसले को लेकर इक्वाडोर के राष्ट्रपति की आलोचना की। असांजे विकीलीक्स के जरिए खुफिया सूचनाएं लीक करने के लिए अमेरिका में वांछित हैं और उन्हें अमेरिका को प्रत्यर्पित किए जाने का खतरा है। (भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING