इमरान खान का बड़ा कदम, भारत सरकार ले सकती है सीख

मंगलवार, 21 अगस्त 2018 (16:24 IST)
इस्लामाबाद। पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री इमरान खान ने खर्चों में कटौती और सादगी का उदाहरण खुद पेश करने के बाद अपने मंत्रिमंडलीय सहयोगियों को भी इसके अनुपालन के लिए प्रेरित करना शुरू कर दिया है। खान के 21 सदस्यीय मंत्रिमंडल ने सोमवार को शपथ ली। इसके बाद मंत्रिमंडल की पहली औपचारिक बैठक हुई।


'जियो न्यूज' ने सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि इस बैठक में मंत्रियों को केवल चाय दी गई। यहां तक बिस्किट या अन्य किसी प्रकार का नाश्ता भी नहीं दिया गया। यह इस बात का संकेत है कि क्रिकेटर से राजनीतिज्ञ बने खान स्वयं के साथ-साथ मंत्रियों पर मितव्ययिता का कितना अमल करेंगे।

सूत्रों के अनुसार, बैठक में पहुंचने पर मंत्रिमंडल के सहयोगियों ने खड़े होकर खान का स्वागत किया। खान ने मंत्रियों को शपथ लेने और कार्यभार संभालने के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा है कि वे स्वयं रोजाना 16 घंटे काम करेंगे और मंत्रिमंडल के सदस्य भी रोजाना 14 घंटे कार्य करें।

उन्होंने मंत्रिमंडल के सहयोगियों से कहा है कि वह करदाताओं के धन को जाया नहीं करें और खर्चों में कटौती करें।उन्होंने कहा कि मंत्रिमंडल की सप्ताह में एक बार या इससे अधिक बैठकें होंगी, जबकि वास्तविकता यह है कि वे रोजाना बैठक करने के इच्छुक हैं।

उन्होंने मंत्रिमंडलीय सहयोगियों से कहा कि वे अवकाश की अनुमति नहीं देंगे और ईद-उल-जुहा की छुट्टी की घोषणा नहीं कर रहे हैं। खान ने मंत्रियों से कहा है कि वह उनकी कैबिनेट का हिस्सा हैं और उन्हें अपने परिवारों की चिंता छोड़नी होगी। उन्होंने 18 अगस्त को प्रधानमंत्री पद की शपथ ली थी।

सोमवार को खान प्रधानमंत्री आवास के बजाय तीन कमरों के एक फ्लैट में रहने लगे हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री के लिए नियुक्त 524 कर्मचारियों की बजाय केवल दो कर्मियों की सेवाएं ही ली हैं और सुरक्षा में लगे बुलेट प्रूफ वाहनों के काफिले को छोड़ने की भी घोषणा की है। (वार्ता)

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING