कविता : हिन्दी ही पहचान हमारी

संजय जोशी 'सजग'
हम सबकी प्यारी,
लगती सबसे न्यारी।
 
कश्मीर से कन्याकुमारी,
राष्ट्रभाषा हमारी।
 
साहित्य की फुलवारी,
सरल-सुबोध पर है भारी।
 
अंग्रेजी से जंग जारी,
सम्मान की है अधिकारी।
 
जन-जन की हो दुलारी,
हिन्दी ही पहचान हमारी।

ALSO READ: हिन्दी भाषा पर कविता : हम सब मिलकर दें सम्मान

1 हफ्ते में चाहिए गोरा रंग, तो पढ़ें 5 टिप्स

कहानी : नदी का गंदा पानी और जीवन की समस्याएं

त्वचा के दाग-धब्बे हटाने के लिए, त्वचा पर करें फिटकरी से मसाज

अगर आपके घर भी हैं ये 5 चीजें तो तुरंत बदल डालें, आपको कंगाल बना सकती हैं ये गलतियां

छोटी सी राई हर संकट को रोके, पढ़ें 5 बड़े काम के टोटके

सम्बंधित जानकारी

इलायची खाने का स्वाद ही नहीं बढ़ाती, सेहत और सुंदरता भी बढ़ा सकती हैं, जानिए कैसे..

स्किन एलर्जी को दूर करने के 4 बेहतरीन उपाय, जरूर आजमाएं

खाने में इस्तेमाल करें मूंगफली का तेल, स्वाद भी बढ़ेेेेगा और मिलेेंगे 10 आश्चर्यजनक फायदे

दूध पीते वक्त जरूर डालिए दालचीनी, और सेहत के 5 फायदे आपके

शौक से खाइए अरबी के पत्तों के व्यंजन, क्योंकि इससे मिलते हैं ये 5 फायदे

जिस वार को जन्मे होंगे आप, वैसा ही होगा आपका स्वभाव

स्वतंत्रता संग्राम के अग्रणी नेताजी सुभाषचंद्र बोस

लिवर कमजोर हो या दिल से जुड़ी बीमारी हो, करी पत्ते के सेवन होंगे कई लाभ

अंग्रेजों के खिलाफ नई क्रांति का सूत्रपात करने वाले आजादी के महानायक थे नेताजी सुभाषचंद्र बोस

बहादुर और देशभक्त थे नेताजी, जानिए विलक्षण व्यक्तित्व की 28 खास बातें...

अगला लेख