ये 7 लक्षण बताते हैं ओवेरियन सिस्ट का पता...

WD

ओवेरियन सिस्ट यानि अंडाशय के ऊपर एक परत का बन जाना। कई मामलों में यह सिस्ट बिल्कुल सामान्य होती है लेकिन अगर यह परत सामान्य से अधिक मोटी है तो यह मासिक धर्म को प्रभावित करती है साथ ही गर्भावस्था के लिए भी खतरनाक है। कुछ स्थितियों में ओवेरियन सिस्ट कैंसर भी पैदा कर सकती हैं। ओवेरियन सिस्ट को पहचानने के लिए इन लक्षणों पर गौर करना जरूरी है - 
1 दर्द के साथ पेट पर सूजन - पेट के निचले भाग में दर्द के साथ-साथ सूजन का होना, ओवेरियन सिस्ट का पहला गंभीर लक्षण है। यदि आप अक्सर ऐसा महसूस करती हैं, तो स्त्री रोग विशेषज्ञ से जरूर संपर्क करें।

2 यूरिनेशन - ओवरी पर सिस्ट बन जाने पर पेशाब करते समय दर्द या तकलीफ होने के साथ-साथ लगतार यूरिनेशन की समस्या हो सकती है। इससे ब्लेडर पर दबाव भी पड़ सकता है।
 
 
3 मासिक धर्म - यदि लंबे समय तक आपका मासिक धर्म समय पर नहीं हो रहा है तो ओवेरियन सिस्ट इसका कारण हो सकता है। इस स्थ‍िति में पेडू या पेट के एकदम निचले भाग में तेज या हल्का दर्द भी हो सकता है।

4 उबकाई या उल्टी आना - अंडाशय की ऊपरी झिल्ली का झरण नहीं होने पर कई बार उबकाई या ऊल्टी आने की स्थिति भी बन सकती है। इस समय तुरंत देखभाल एवं उपचार की जरुरत होती है ताकि इंफेक्शन न फैले।
 
5 वजन बढ़ना - यदि बेहद कम समय में आपका वजन बहुत ज्यादा और तेजी से बढ़ रहा है, तो इसका कारण ओवेरियन सिस्ट भी हो सकता है। इस स्थिति को भांपकर तुरंत स्त्री रोग विशेषज्ञ से संपर्क करें।

6 अपचन और जलन - कई बार बहुत कम खाने के बावजूद आप अपना पेट भरा हुआ महसूस करती हैं, तो यह पेट पर पड़ने वाले दबाव के कारण है। इस स्थिति में आप अपचन संबंधी समस्याएं भी महसूस कर सकते हैं।
 
7 कमर दर्द - यदि ओवरी पर सिस्ट है, तो इससे आपकी कमर पर भी दबाव पड़ता है जिसके कारण मासिक धर्म के समान कमर दर्द होना सामान्य हो जाता है। इसके साथ-साथ जांघों में भी दर्द हो सकता है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING