श्री गणेश जी की आरती- शेंदुर लाल चढ़ायो...

Webdunia
गणेश आरती - 
 
 
शेंदुर लाल चढ़ायो अच्छा गजमुखको।
 
दोंदिल लाल बिराजे सुत गौरिहरको।
 
हाथ लिए गुडलद्दु सांई सुरवरको।
 
महिमा कहे न जाय लागत हूं पादको ॥1॥
 
जय जय श्री गणराज विद्या सुखदाता।
 
धन्य तुम्हारा दर्शन मेरा मन रमता ॥धृ॥
 
अष्टौ सिद्धि दासी संकटको बैरि।
 
विघ्नविनाशन मंगल मूरत अधिकारी।
 
कोटीसूरजप्रकाश ऐबी छबि तेरी।
 
गंडस्थलमदमस्तक झूले शशिबिहारि ॥2॥
 
जय जय श्री गणराज विद्या सुखदाता।
 
धन्य तुम्हारा दर्शन मेरा मन रमता ॥
 
भावभगत से कोई शरणागत आवे।
 
संतत संपत सबही भरपूर पावे।
 
ऐसे तुम महाराज मोको अति भावे।
 
गोसावीनंदन निशिदिन गुन गावे ॥3॥
 
जय जय श्री गणराज विद्या सुखदाता।
 
धन्य तुम्हारा दर्शन मेरा मन रमता ॥ 

अगर आपके घर भी हैं ये 5 चीजें तो तुरंत बदल डालें, आपको कंगाल बना सकती हैं ये गलतियां

शरीर छोड़ने के बाद आत्मा कहां पहुंच जाती है, जानिए रहस्य

धन की हर समस्या दूर कर देंगे लहसुन के ये चमत्कारिक टोटके

पायरिया के 3 प्रमुख कारण और 12 उपाय

गणतंत्र दिवस पर हिन्दी दोहे

सम्बंधित जानकारी

मात्र यह 4 उपाय बचा सकते हैं आपको पितृ दोष से...

प्रभु श्रीराम के धनुष कोदंड की खासियत जानकर चौंक जाएंगे आप

बस दूध से भरा एक गिलास रखें सिरहाने, फिर देखें कौन रोक सकता है आपको अरबपति होने से

एक चुटकी सिंदूर की कीमत आप भी नहीं जानते हैं, जानेंगे तो हैरान रह जाएंगे... पढ़ें चार चमत्कारी टोटके

कुंभ मेला : कैसे बनता है कोई व्यक्ति नागा और महंत?

मंगलवार को बजरंगबली के किस उपाय से मिलता है क्या लाभ, पढ़ें 10 बातें

आपके आत्मविश्वास को कई गुना बढ़ा देगा पीतल का शेर, जानिए कैसे

धन की हर समस्या दूर कर देंगे लहसुन के ये चमत्कारिक टोटके

संगम की रेती पर संयम, श्रद्धा एवं कायाशोधन का 'कल्पवास' शुरू

प्रयागराज कुंभ में जा रहे हैं तो अष्टनायक के दर्शन जरूर करें, क्या है अष्टनायक, जानिए

अगला लेख